ENG | HINDI

वेडिंग इंश्योरेंस के बाद नहीं रहती है शादी के खर्चे की टेंशन !

वेडिंग इंश्योरेंस

वेडिंग इंश्योरेंस – आपने कार का, फोन का, घर का, यहां तक कि खुद का बीमा करवाना सुना होगा लेकिन क्या कभी आपने शादी के बीमे के बारे में सुना है।

जी हां, अब इंडिया में वेडिंग इंश्‍योरेंस का ट्रेंड काफी चल गया है। शादी कैंसल होने पर, जेवर चोरी होने पर या शादी के अचानक बाद एक्सीडेंट होने पर वेडिंग इंश्योरेंस आपकी सहायता व सुरक्षा करता है।

क्या है शादी का बीमा –

भारत में शादियां किसी महोत्‍सव से कम नहीं होती हैं। शादी में लोग बहुत पैसा खर्च करते हैं। कई बार शादी में अचानक कोई परेशानी आ जाती है जिसके कारण आर्थिक रुप से भी परिवार को काफी नुकसान होता है। वेडिंग इंश्योरेंस यानी शादी का बीमा आपको इसी नुकसान से उबारने में मदद करता है।

क्यो हैं इसकी जरुरत –

दुनिया में किसी भी चीज़ का कोई भरोसा नहीं है। शादी से जुड़ी किसी भी तरह की परेशानी से बचने के लिए वेडिंग इंश्‍योरेंस करवाया जाता है। अगर किसी की शादी कैंसल हो जाए या फिर आपका खर्च डबल हो जाए तो ऐसे वक्‍त में सिर्फ वेडिंग इंश्‍योरेंस ही आपके काम आ सकता है।

कब लें वेडिंग इंश्‍योरेंस –

यह पॉलिसी आप केवल शादी की डेट फिक्स होने के बाद या शादी होने से दो साल पहले ले सकते हैं।

शादी कैंसल होने पर भी मिलेगा कवर –

अगर किसी कारण आपकी शादी कैंसल हो जाती है या उसकी डेट आगे बढ़ जाती है तो भी आपको कोई टेंशन लेने की जरुरत नही है क्योंकि इन सबका खर्च वेडिंग इंश्योरेंस आपको दे देगा।

इंडिया में कहां से ले सकते हैं वेडिंग इंश्योरेंस –

भारत में वेडिंग इंश्योरेंस नया कॉन्‍सेप्‍ट है, इस कारण सिर्फ तीन ही कम्पनियां ये बीमा करवाती हैं। पहली भविष्य जनरल, दूसरी एचडीएफसी एर्गो और तीसरी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड।

इस तरह आप वेडिंग इंश्योरेंस ले सकते है – अगर आपकी या आपके परिवार में से किसी की भी शादी होने वाली है तो यह बीमा पॉलिसी आपकी मुश्किलों को कम कर सकता है।

Don't Miss! random posts ..