ENG | HINDI

विदेश में पढ़ाई के आड़े आ रही पैसे की समस्या को ऐसे करे दूर

विदेश में पढ़ाई

विदेश में पढ़ाई – कई स्‍टूडेंट्स विदेश में पढाई करने का सपना देखते हैं लेकिन पैसों की कमी की वजह से उनका ये सपना पूरा नहीं हो पाता है।

विदेश में पढ़ाई करने के लिए पैरेंट्स और बच्‍चों को यूनिवर्सिटी और बैंकों के चक्‍कर काटने पड़ते हैं। आपकी इस मुश्किल को दूर करते हुए आज हम आपको बता रहे हैं किसी विदेशी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको किस तरह फाइनेंशियल मदद मिल सकती है।

आइए जानते हैं विदेश में पढ़ाई करने के लिए आपको क्‍या करना चाहिए।

1 – स्‍कॉलरशिप

– अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं और आपके पास पैसों की कमी है तो आपको स्‍कॉलरशिप का सहारा लेना चाहिए।

– गूगल पर सर्च करें कि आप किस तरह ज्‍यादा से ज्‍यादा स्‍कॉलरशिप पा सकते हैं।

– ज्‍यादा से ज्‍यादा जगह पर स्‍कॉलशिप के लिए अप्‍लाई करें। ऐसा करने से कहीं एक जगह तो आपको स्‍कॉलरशिप मिल ही जाएगी।

– यह सोचना बंद कर दें कि स्‍कॉलरशिप सिर्फ एथलीट्स और पढ़ाकू छात्रों को ही मिलती है।

2 – वर्क-स्‍टडी प्रोग्राम

– इसके तहत आप पढ़ाई के साथ-साथ काम भी कर सकते हैं लेकिन ये आपके स्‍टडी प्रोग्राम पर निर्भर करता है।

– अगर आप विदेश में पढ़ाई के दौरान पार्ट टाइम कोई काम करेंगें तो इससे आपको अपनी कॉलेज की फीस भरने में मदद मिलेगी।

– पार्ट टाइम नौकरी करने से पैसे तो मिलेंगें ही साथ ही आपका अनुभव भी बढ़ेगा।

3 – एजुकेशनल लोन

– विदेश में पढ़ाई के लिए आपको बैंकों से लोन तो मिल जाएगा लेकिन उनकी ब्‍याज दर काफी ज्‍यादा होती है।

– बैंक से लोन लेने के लिए तभी अप्‍लाई करें जब आप सारी स्‍कॉलरशिप देख चुके हों।

– बैंक से लोन ले रहे हैं जो फेडर स्‍टूडेट और पैरेंटस लोन के लिए अप्‍लाई करें क्‍योंकि इनकी ब्‍याज दर काफी कम होती है और इनके प्‍लान भी फ्लेक्‍सिबल होते हैं। सभी स्‍टूडेंट्स फेडरल लोन के योग्‍य हैं।

– प्राइवेट बैकों से लोन न लें तो ही बेहतर होगा।

अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन पैसों की कमी है तो इन तरीकों से आपको ये सपना पूरा हो सकता है। कई बच्‍चे स्‍कॉलरशिप और एजुकेशनल लोन के ज़रिए विदेश में पढ़ाई करते हैं।

Don't Miss! random posts ..