ENG | HINDI

जानिए शिक्षकों से लेकर छात्रों के बीच स्टार कैसे बने

college-students

गर्मियों की छुटिया ख़तम होने आई है. स्कूल और कॉलेजों में दाखिला लेने के लिए छात्रों में धूम मची है.

कई छात्रो के लिए यह नया विद्या का मंदिर रहेगा. इस लिए कॉलेज और स्कूल परिसर उनके लिए कई नई बाते सीखने के लिए रहेगी.

अब स्कूल और कॉलेजों में पारंपरिक पाठ्यक्रम के अलावा कोकरिकुलर एक्टिविटीज कई हद तक बढ गए है.

पढाई और सह पाठ्यचारी क्रियाकलाप का समतोल बनाना आवश्यक इसलिए हो जाता है क्योंकि अब सभी के गुण जोड़कर परीक्षा के परिणाम निकलते है.

पढाई के दबाव में भी छात्रों को नए दोस्त बनाने होते है, मस्ती करनी होती है. आखिर स्कुल और कॉलेज के छात्र जीवन को इसी पड़ाव पर खूब एन्जॉय करते है.

इन सभी चीजों में जो समान सामंजस्य बैठा पायेगा, वही स्कूल और कॉलेजों में प्रसिद्ध होता है.

 

शिक्षकों को कैसे करे प्रभावित ?

सबसे पहले तो छात्रों को निमित रूप से अभ्यास करते हुए अन्य एक्टिविटीज पर ध्यान देना चाहिए. भले इन में वो अव्वल ना रहे मगर इससे शिक्षकों को यह यकीन हो जाएगा की आप सभी चीज करने में दिलचस्पी रखते है.

धीरे धीरे आप दोनों चीजों में अधिक अव्वल होने की कोशिश करिए. जो समझ नहीं आता हो या फिर बेहतर करना हो, तब अपने शिक्षकों का वक़्त लेकर उनको उनके स्टाफ रूम में मिले. जिससे शिक्षक को यह बात और अच्छी लगेगी कि उनके छात्र पढाई और अन्य एक्टिविटीज को समान वक़्त दे रहे है.

स्कुल और कॉलेज में कैरीयर और कला को लेकर इवेंट्स में अपने सुझाव दे.

चापलूसी से दूर शिक्षकों से रोज बातचीत करे. उनके लेक्चर में सवाल जवाब में शामिल रहे.

 

छात्रों को कैसे करे प्रभावित ?

वैसे तो छात्र आपकी पढाई और अन्य एक्टिविटीज से ४०% इम्प्रेस पहले से रहेंगे.

छात्रों को उनके समस्याओं में मदत करना सुरु कर दो. चाहे पढाई हो या अन्य विषय. इससे आप उनके अच्छे दोस्त भी बन जायेंगे और उस विषय में अधिक सक्षम छात्रों की ओर से उनकी बात कक्षा में रखना सीखे. यह बात सभी छात्रों का ध्यान आपके तरफ अधिक आकर्षित करेगी.

ड्रामा, इवेंट्स और खेल में छात्रों का प्रतिनिधित्व करे.

कैंटीन में वड़ापाव और सैंडविच का स्वाद चखते वक़्त सभी छात्रों से मेल बढाइये.

यह सारी बाते आपको शिक्षकों से लेकर छात्रों के बीच प्रसिद्ध कर देंगे. किंतु यह तो ट्रेलर था अभी तो आपको स्टार बनना है. कोई चीज आसानी से मिलेगी तो आप उसका मजा पूरी तरह नहीं उठा सकते. थोड़ी तो मेहनत आवश्यक होती है.

यह बात पुरानी हो गई है कि है मूलरूप से कोई पढाकू हो या मस्तीखोर वही आगे बढता है.

आज केवल आपको इन बातों का अनुकरण करना है. आपकी चाह के लिए दिल से आप अनुकरण करते है तो कोई भी आपको स्टार बनने से नहीं रोक सकता है.

स्टार कैसे बने ?

आप अभी एवरेज के ऊपर आ गए है.

मौके का फायदा उठाना होगा आपको. कक्षा में जब कोई जवाब नहीं दे रहा हो. उसी सवाल का जवाब देने की आपकी कोशिश रहे, पूरा ना सही आधा ही सही. इससे आपका एक्टिवनेस शिक्षकों को पता रहेगा साथ में छात्र भी आपका आदर करेंगे.

छात्रों के बीच रह कर उनका नेतृत्व भी करे और प्रतियोगिताओं में बाजी मारे. डिबेट से लेकर ड्रामा मस्ती तक सभी इवेंट्स में शामिल होकर अपना ऑलराउंड प्रदर्सन करे।

अपना रहन सहन सभी से हटकर  रखे.

यह सारी चीजे आप जितना जूनून से कर सको उतना ही आपको इसके परिणाम नज़र आयेंगे.

किंतु आपको किसी का प्रतियोगी नहीं बनना है. यहा केवल आपको आगे बढना है और बेहतर करना है. इससे यह फायदा होगा कि आप अपनी एक अलग छवी निर्माण करेंगे.

Don't Miss! random posts ..