ENG | HINDI

कॉलेज का बहाना बनाकर ये यंग स्टूडेंट्स इस तरह से करते हैं मौज-मस्ती !

कॉलेज स्टूडेंट्स की मौजमस्ती

कॉलेज स्टूडेंट्स की मौजमस्ती – वैसे तो स्टूडेंट्स हर रोज कॉलेज जाने के लिए घर से बाहर निकलते हैं लेकिन ऐसा हर रोज नहीं होता है कि वो घर से निकलकर सीधे कॉलेज ही जाते हैं.

कई स्टूडेंट्स कॉलेज के लिए घर से निकलते तो हैं लेकिन कॉलेज बंक करके वो अपने दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करने निकल जाते हैं. इसका मतलब ये नहीं है कि स्टूडेंट्स हर रोज कॉलेज बंक करते हैं लेकिन कभी-कभी वो ऐसा जरूर करते हैं.

अब आप सोच रहे होंगे कि कॉलेज ना जाकर आखिर ये स्टूडेंट्स कहां जाते होंगे और क्या करते होंगे!

तो चलिए हम आपको बताते हैं कॉलेज स्टूडेंट्स की मौजमस्ती – कॉलेज का बहाना बनाकर ये यंग स्टूडेंट्स आखिर किस तरह से मौज-मस्ती करते हैं.

कॉलेज स्टूडेंट्स की मौजमस्ती –

1 – समंदर की लहरों के साथ मौज-मस्ती

पूरे हफ्ते में किसी एक या दो दिन कॉलेज ना जाकर कुछ छात्र एक साथ मिलकर समंदर की सैर पर निकल जाते हैं. कॉलेज के टाइम पर वो समंदर के किनारे लहरों के संग मौज-मस्ती का भरपूर आनंद उठाते हैं.

वहीं कॉलेज के कुछ ऐसे भी स्टूडेंट्स भी हैं जो अपनी गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड के साथ घूमने या क्वालिटी टाइम बिताने के लिए समंदर किनारे सैर पर निकल जाते हैं.

2 – फिल्म देखकर करते हैं एन्जॉय

आज की युवा पीढ़ी फिल्में देखने की काफी शौकीन है. जाहिर है कॉलेज जानेवाले छात्रों के माता-पिता उनकी पढ़ाई को लेकर कुछ ज्यादा ही स्ट्रीक्ट होते हैं. लेकिन आज की ये जनरेशन किसी के रोकने से कहां रुकनेवाली है

इसलिए वो कॉलेज में लेक्चर अटेंड करने के बजाय थिएटर में नई फिल्में देखने पहुंच जाते हैं वो भी अपनी पॉकेट मनी खर्च करके.  कॉलेज के ये दोस्त साथ मिलकर फिल्म देखते हैं और खूब एन्जॉय करते हैं.

3 – हरे-भरे पार्क की सैर लगती है अच्छी

हर रोज कॉलेज के लेक्चर अटेंड करके बोर हो जानेवाले छात्र कभी-कभी कॉलेज बंक करके हरे-भरे पार्क की सैर पर निकल जाते हैं.

पार्क में हरे-भरे पेड़ों की हरियाली में फुर्सत के कुछ लम्हें बिताना आज की युवा पीढ़ी को अच्छा लगता है. लेकिन उन्हें इस हरियाली का असली मजा तब आता है जब वो किसी स्पेशल दोस्त के साथ वहां जाते हैं.

4 – रिसोर्ट या वॉटर पार्क खूब भाता है

अपनी पॉकेट मनी से कुछ पैसे बचाकर छात्र कॉलेज बंक करके किसी रिसोर्ट या वॉटर पार्क जाने का भी प्लान बनाते हैं. वो वहां अपने खास दोस्तों के साथ जाते हैं और खूब मौज-मस्ती करते हैं.

दोस्तों के साथ मौज-मस्ती के बाद जब कॉलेज छूटने का वक्त होता है तब वो अच्छे स्टूडेंट्स की तरह वक्त पर घर लौट जाते हैं ताकि उनके पैरेंट्स को उनकी इन हरकतों की भनक ना लग सके.

5 – दोस्तों के घर करते हैं पार्टी

कॉलेज जानेवाले कई छात्रों के माता-पिता नौकरी करते हैं लिहाजा वो ज्यादातर वक्त घर से बाहर ही होते हैं. ऐसे में उनके बच्चे घर पर ज्यादातर समय अकेले होते हैं.

जिन छात्रों के पैरेंट्स घर पर नहीं होते हैं उनका घर अक्सर दोस्तों के लिए मौज-मस्ती करने का अड्डा बन जाता है. ऐसे में कई छात्र कॉलेज के लेक्चर्स को छोड़कर अपने दोस्त के घर पहुंच जाते हैं और खूब पार्टी करते हैं.

ये है कॉलेज स्टूडेंट्स की मौजमस्ती  – बहरहाल कॉलेज बंक करने का मतलब ये नहीं है कि छात्र अक्सर इस तरह की हरकतें करते हैं और अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते हैं. लेकिन ये सच है कि जब भी छात्र कॉलेज के लेक्चर्स से बोर हो जाते हैं तो कभी-कभी वो कॉलेज बंक करते दोस्तों के साथ इस तरह से मौज-मस्ती जरूर करते हैं.

 

Don't Miss! random posts ..