ENG | HINDI

इन सर्दियों में ये 7 घरेलु उपचार जो आपका वायरल फीवर को दूर कर देंगे !

वायरल फीवर के घरेलु उपचार

इन सर्दियों में ये 7 घरेलु उपचार जो वायरल फीवर को दूर कर देंगे !

गर्मियों के बाद बारिश और बारिश के बाद सर्दियों का मौसम आता है. साल भर में हर बदलते मौसम का असर हमारे स्वास्थ पर भी पड़ता है. मौसम में बदलाव के चलते अक्सर कई लोग वायरल फीवर की चपेट में आ जाते हैं.

जब भी मौसम करवट लेता है तब तापमान में उतार-चढ़ाव की वजह से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता थोड़ी कमजोर पड़ जाती है. जिसकी वजह से शरीर में इंफेक्शन बहुत तेजी से बढ़ने लगता है.

बदलते मौसम के साथ गले में दर्द, खांसी, सिर दर्द, थकान, जोड़ों में दर्द के साथ उल्टी और दस्त होना, आंखों का लाल होना और माथे का गर्म होना ये सारे लक्षण बताते हैं कि आपको वायरल फीवर हुआ है.

वायरल संक्रमण तेजी से एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुंचा जाता है. इसलिए बदलते मौसम में अगर आप भी वायरल संक्रमण की चपेट में आ जाते हैं तो वायरल फीवर के घरेलु उपचार आजमाकर आप आसानी से वायरल फीवर की छुट्टी कर सकते हैं.

वायरल फीवर के घरेलु उपचार – 

1- तुलसी और लौंग का काढ़ा

तुलसी में मौजूद एंटीबायोटिक और एंटी बैक्टिरीयल गुण शरीर के अंदर के वायरस को खत्म करते हैं. वायरल फीवर होने पर तुलसी के कुछ पत्तों को एक लीटर पानी में एक चम्मच लौंग पावडर के साथ तब तक उबालें जब तक वह आधा न हो जाए. फिर इस काढे को छान ले और ठंडा हो जाने पर हर एक घंटे में इसे पीएं.

tulsi-clove

2- सूखा अदरक और हल्दी का काढ़ा

वायरल फीवर होने पर सूखा अदरक और हल्दी का नुस्खा काफी कारगर होता है. इसके लिए एक चम्मच काली मिर्च का पावडर, एक चम्मच हल्दी पावडर और थोड़ी सी चीनी मिलाकर एक बड़े कप पानी में डालकर उबाल लें. जब आधा कप पानी रह जाए तब इस काढ़े को ठंड़ा करके दिन में कम से कम चार बार पीएं.

ginger-turmeric

3- मेथी का पानी है कमाल का

मेथी में कई सारे औषधिय गुण पाए जाते हैं जो स्वाथ्य के लिहाज से काफी फायदेमंद होता है. बदलते मौसम की वजह से अगर वायरल फीवर हो जाए तो ऐसे में मेथी के दानों को एक कप पानी में डालकर रात भर के लिए छोड़ दें. फिर अगले दिन सुबह इस पानी को छानकर हर एक घंटे में पीएं और इसका कमाल देखें.

methi

4- सूखी धनिया की चाय

धनिया विटामिन और रोगों से लड़ने की क्षमता से भरपूर होता है. धनिया वायरल फीवर समेत कई रोगों में कारगर साबित होता है. एक गिलास पानी में एक चम्मच धनिया के दाने डालें और उसको उबालकर उसमें चीनी और दूध डालकर चाय बना लें. वायरल बुखार को खत्म करने के लिए धनिया की चाय बहुत ही असरदार औषधि का काम करती है.

dhaniya

5- नींबू और शहद का मिश्रण

नींबू का रस और शहद मिलाकर पीने से भी वायरल फीवर में आराम मिलता है. एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नींबू का रस और थोड़ा सा शहद मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए. ये नुस्खा वायरल फीवर से आपको जल्द राहत दिलाता है.

lemon-honey

6- चावल का स्टार्च

वायरल बुखार आने पर चावल के स्टार्च का इस्तेमाल किया जा सकता है. ये एक पारंपरिक उपाय है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर वायरल फीवर से छुटकारा दिलाता है.

चावल का स्टार्च बनाने के लिए एक भाग चावल और आधा भाग पानी डालकर चावल के आधा पकने तक पकाएं. इसके बाद चावल से पानी निकाल लें और इसमें नमक मिलाकर गरमा-गरम पीएं.

rice

7- ये काढा है एक कारगर नुस्खा

वायरल फीवर होने पर मुनक्का, अजवाइन, छोटी इलायची, तुलसी का पत्ता, सौंफ, नमक और चीनी मिलाकर काढ़ा बना लेना चाहिए. और इस काढ़े को रोजाना दिन में तीन-चार बार पीना चाहिए. वायरल फीवर में आजमाया जानेवाला यह एक बेहद ही कारगर नुस्खा है.

kadha

ये है वायरल फीवर के घरेलु उपचार – अगर आप सर्दियों में वायरल फीवर से सुरक्षित रहना चाहते हैं या फिर आप वायरल फीवर से जल्दी छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपने किचन में मौजूद इन वायरल फीवर के घरेलु उपचार आजमाइए.

Don't Miss! random posts ..