ENG | HINDI

दुनिया का सबसे बड़ा फेशन ट्रेंड जीन्स दरअसल मजदूरों के लिए बनाया गया था !

फेशन ट्रेंड जीन्स

विश्व का सबसे बड़ा फेशन ट्रेंड जीन्स दरअसल मजदूरों के लिए बनाया गया था !

हमारी सबकी फेवरेट जीन्स जिसके बारे में हम सिर्फ इतना ही जानते है कि जीन्स दुनिया का सबसे पॉप्युलर फेशन ट्रेंड है।

जिसको हर उम्र-वर्ग के लोग बड़े ही शौक से पहनते है और कॉंफिडेंट फील करते है।

लेकिन फेशन ट्रेंड जीन्स के इतिहास के बारे में हम बिल्कुल भी नहीं जानते, हमें नही पता है कि जीन्स कैसे ट्रेंड में आई और कैसे लोगो की फेवरेट बन गई।

जीन्स आजकल हर ऐज के लोगों का सबसे पॉप्युलर पहनावा है, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि शुरुआत में इसे मजदूर पहना करते थे।

दरअसल, इसका मोटा कपड़ा मजदूरों को सूट करता था।

आप भी अपने ज्यादातर साथियों को जीन्स पहने हुए देखते होंगे। तभी तो ये आपके मन को इतना लुभाती हैं। वैसे, फेशन ट्रेंड जीन्स की कहानी भी कुछ कम दिलचस्प नहीं है।

चलिए हम आपको फेशन ट्रेंड जीन्स के बारे में इतिहास से बताते हैं।

फेशन ट्रेंड जीन्स

फेशन ट्रेंड जीन्स का इतिहास –

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका की फैक्ट्रियों में काम करने वाले वर्कर्स जीन्स पहना करते थे। और तो और यह उनकी यूनिफॉर्म में शामिल कर दी गई थी। पुरुषों के लिए बनी जीन्स में जिप फ्रंट में नीचे की तरफ लगाई जाती थी, वहीं महिलाओं के लिए बनी जीन्स में इसे साइड में लगाया जाता था। स्पेन और चीन में वहां के कॉउबॉय वर्कर्स जीन्स पहना करते थे। वक्त के साथ जीन्स में नए-नए चेंज आने लगे। इसी के तहत अमेरिकन नेवी में बूट कट जीन्स को वर्कर्स की यूनिफॉर्म बनाया गया।

भारत में जीन्स की शुरूआत-

भारत में जीन्स की शुरूआत की बात करें, तो ये दूसरे विश्व युद्ध के बाद से माना जाता है। जब फ्रांस और भारत स्वतंत्र रुप से इसका प्रॉडक्शन करते थे। भारत में डेनिम से बने ट्राउजर्स डूंगा के नाविक पहना करते थे, जिन्हें डूंगरीज के नाम से जाना जाता था। वहीं, फ्रांस में गेनोइज नेवी के वर्कर जीन्स को बतौर यूनिफॉर्म पहनते थे। उनके लिए जीन्स का फैब्रिक उनके काम के मुताबिक परफेक्ट था। जीन्स को ब्लू कलर में रंगने के लिए इंडिगो डाई का इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि 16 वीं शताब्दी में जींस के चलन ने ज्यादा जोर पकड़ा, लेकिन बाकी देशों तक अपनी पहुंच बनाने में इसे काफी समय लग गया।

कैसे बना फेशन ट्रेंड जीन्स –

दरअसल, 1950 में जेम्स डीन ने एक हॉलिवुड फिल्म ‘रेबल विदाउट अ कॉज’ बनाई, जिसमें उन्होंने पहली बार जीन्स को बतौर फैशन यूज किया। इस फिल्म को देखने के बाद अमेरिका के टीन एजर्स और यूथ में जीन्स का ट्रेंड काफी पॉप्युलर हो गया। हालांकि इसकी लोकप्रियता कम करने के लिए अमेरिका में रेस्तरां, थियेटर्स और स्कूल में जीन्स पहनकर जाने पर बैन भी लगा दिया गया, फिर भी जीन्स का फैशन यूथ के सिर पर ऐसा चढ़ा की फिर उतरा ही नहीं। धीरे-धीरे जीन्स की लोकप्रियता बढ़ने लगी और 1970 में इसे फैशन के तौर पर स्वीकार कर लिया गया। तब से अब तक जीन्स का क्रेज हर तबके के लोगों के सिर पर चढ़कर बोल रहा है, फिर चाहे वह अमीर, गरीब, बच्चा, बूढ़ा या फिर जवान कोई भी हो।

जीन्स का इस्तेमाल भले ही किसी समय में मजदूरों द्वारा किया जाता रहा हो, लेकिन आज ये विश्व का सबसे बड़ा फेशन ट्रेंड है। वैसे समय के साथ-साथ जीन्स में भी कई बदलाव किये गए जिससे ये हमारे लिए और भी आरामदायक बनती चली गई।

Don't Miss! random posts ..