ENG | HINDI

2060 तक भारत में हिन्दू अल्पमत में हो जायेंगे ! वायरल खबर का पूरा सच

हिन्दू अल्पमत

अभी अचानक से ही एक मैसेज वायरल की तरह नजर आ रहा है जिसमें यह बताने की कोशिश की जा रही है कि भारत में मुसलमान से हिन्दुओं को खतरा है. बताते है कि 2060 तक भारत में हिन्दू अल्पमत में हो जायेंगे !

सोशल मीडिया और इन्टरनेट पर यह खूब फैलाया जा रहा है.

आज यंगिस्थान ने इस वायरल मैसेज को जांचने की कोशिश की.

क्या यह एक सच है या सिर्फ आपसी सौहार्द को बिगाड़ने की एक चाल है.

तो आइये सबसे पहले यह मैसेज पढ़ते हैं-

जिन देशों में मुसलमान 10-15 प्रतिशत से अधिक होते हैं, वहाँ वे शान्तिपूर्ण जिहाद अपनाते हैं. साथ ही ”इस्लाम खतरे में”, मुस्लिम उपेक्षित’ आदि का नारा लगाते हैं. साथ ही मुस्लिम वोट बैंक एक-जुट करके देश के प्रभावी राजनैतिक गुट से मिल जाते हैं. साथ ही गैर-मुसलमानों को धर्मान्तरित व उनकी युवा लड़कियों का अपहरण, एवं प्रेमजाल में फंसाकर, चार शादियाँ करके तथा तेजी से जनसंखया दर बढ़ाने का प्रयास करते हैं. आज कल भी ‘लव जिहाद राजनैतिक जिहाद का एक मुख्य अंग है. भारत के विभिन्न प्रान्तों में लव जिहाद की अनेक घटनाएँ हुई हैं अकेले केरल में पिछले चार वर्षों में ही गैर-मुसलमानों की 2800 लड़कियाँ ‘लव जिहाद‘ के जाल में फंसकर इस्लाम में धर्मान्तरित हो गई हैं.’

यह सब जानकारी कहाँ से ली गयी है या यह कितने प्रतिशत सच हैं इनका जवाब किसी पर नहीं है.

तो चलिए इसको हम झूठ समझ लेते हैं. साथ ही साथ सभी से अनुरोध करते हैं कि इसको आप नजरअंदाज कर दें.

भारत में हिन्दू 2060 तक अल्पमत में हो जायेंगे

किन्तु जब हम इस तथ्य की जांच करना शुरू करते हैं तो यहाँ पर हमें कई तरह के सर्वे और आंकड़े प्राप्त हो जाते हैं.

2001 की जनगणना के आधार पर कहा जा रहा है कि 220 सालों में भारत के मुसलमान हिन्दू आबादी के बराबर हो जाएंगे. 1991 की जनगणना में मुसलमानों की आबादी 106,700,000 थी. वहीं हिन्दुओं की आबादी 690,100,000 थी. 10 साल बाद मुसलमानों की आबादी बढ़कर 138,200,000 और हिन्दुओं की जनसंख्या बढ़कर 82 करोड़ 76 लाख हो गई. मतलब इन 10 सालों में मुसलमानों की आबादी में 29.5 फीसदी और हिन्दुओं की आबादी में 19.9 पर्सेंट की वृद्धि हुई.

इस एक दशक में सालाना मुसलमानों की वृद्धि दर 2.62 पर्सेंट रही और हिन्दुओं की 1.83 पर्सेंट.

तो इस लिहाज से तो सन 2023 में ही मुस्लिम आबादी हिन्दुओं से ऊपर हो जाएगी. यह आकंडे देश के एक प्रसिद्ध अख़बार के हैं.  लेकिन अगर मुस्लिम आबादी हिन्दुओं से ऊपर हो भी गयी तो इससे किसी को क्या समस्या होने वाली है?

तो कुछ बुद्धिजीवी बताते हैं कि जहाँ भी मुस्लिम आबादी 20 प्रतिशत से ऊपर हो जाती है वहां पर यह जनसंख्या समस्या उत्पन्न करने लगती है. और जहाँ यह संख्या 60 प्रतिशत तक पहुँचती है वहां पर अन्य धर्मों के लोगों का जबरन धर्मांतरण चालू हो जाता है. तो यह है असली समस्या जिसको लेकर भारत के कुछ लोग चिंतित हैं.

तो यहाँ हम देख सकते हैं कि प्रारंभिक आंकड़े बेशक विश्वास के लायक नहीं थे लेकिन असली समस्या यह है कि अगर भारत देश में हिन्दू अल्पमत हो गये तो यह एक ग्रह युद्ध जैसी स्थिति बन सकती है.

Don't Miss! random posts ..