ENG | HINDI

हिंदू धर्म की इन मान्यताओं की पीछे है साइंटिफिक कारण, जानकर हैरान रह जाएंगे!

हिंदू धर्म की मान्यताएं

हिंदू धर्म की मान्यताएं – हिंदू धर्म में सदियों से कुछ मान्यताएं चली आ रही हैं और लोग उसका पालन कर रहे हैं, कुछ तो बड़े-बुज़ुर्गो के कहने पर बस उन मान्यताओं को आगे बढ़ाते जा रहे हैं, जबकि कुछ इसे महज़ अंधविश्वास कहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि सदियों पहले बनाई गए हिंदू धर्म की मान्यताएं निराधार नहीं है, बल्कि इनके पीछे वैज्ञानिक कारण भी है.

हिंदू धर्म की मान्यताएं

१ – सिंदूर लगाना

हिंदू धर्म में शादीशुदा महिलाओं का मांग में सिंदूर लगाना अनिवार्य है, इसे सुहाग की निशानी माना जाता है. दरअसल, सिंदूर में हल्दी, चूना और मरकरी होता है. इन तीनों का मिश्रण ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है, इससे मानसिक तनाव भी कम होता है. इसलिए सिंदूर लगाना फायदेमंद है.

२ – माथे पर तिलक लगाना

पूजा-पाठ या शुभ काम में पंडित जी अक्सर सबके माथे पर तिलक लगाते हैं. धार्मिक नजरिए से देखें तो माथे पर तिलक लगाने से भगवान का आशीर्वाद मिलता है, लेकिन विज्ञान कहता है कि दोनों आंखों के बीच में आज्ञा चक्र होता है. इस आज्ञा चक्र पर टीका लगाने पर हमारी एकाग्रता बढ़ती है. माथे पर तिलक लगाते समय उंगली का जो दबाव माथे पर बनता है उससे नसों का रक्त संचार अच्छी तरह होता है.

३ – जमीन पर बैठकर खाना

आज भी हमारे देश में अधिकांश लोग जमीन पर बैठकर ही खाना खाते हैं. विज्ञान के अनुसार, जमीन पर पालथी मारकर खाना खाने से पाचन तंत्र ठीक रहता है, साथ ही मन भी शांत रहता है.

४ – हाथ जोड़कर प्रणाम करना

हिंदू धर्म में हाथ जोड़कर नमस्कार किया जाता है. इसका वैज्ञानिक तर्क यह है कि जब हम हाथ जोड़कर नमस्ते करते है तो उस समय सभी उंगलियां आपस में एक दूसरे के संपर्क में आती हैं जिससे उन पर दबाव पड़ता है. उंगलियों की नसों का संबंध शरीर के सभी मुख्य अंगों से होता है. ऐसे में उंगलियों पर दबाव पड़ने का सीधा असर हमारी आंखों, कानों और दिमाग पर होता है.

५ – एक गोत्र में शादी न करना

हिंदू धर्म एक गोत्र में लड़का या लड़की की शादी नही की जाती है. एक गोत्र में शादी करने से कई बीमारियों का खतरा रहता है और यह बात कई रिसर्च में भी साबित हो चुकी है. व्यक्ति को जेनेटिक बीमारी न हो इसके लिए एक इलाज है सेपरेशन ऑफ़ जींस यानी अपने नजदीकी रिश्तेदारो में शादी न करना.

६ – सूर्य की पूजा

हिंदू धर्म और शास्त्रों में सूर्य को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है. शास्त्रों के अनुसार, सूर्य को जल चढ़ाने से घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान मिलता है. जबकि इसका वैज्ञानिक कारण भी है. दरअसल, जल चढ़ाते समय पानी से आने वाली सूर्य की किरणें, जब आंखों हमारी में पहुंचती हैं तो आंखों की रोशनी अच्छी होती है. साथ ही, सुबह-सुबह की धूप भी हमारी त्वचा के लिए फायदेमंद होती है.

७ – व्रत रखने की परंपरा

हिन्दू धर्म में सदियों से व्रत/उपवास रखने की परंपरा है, कहते हैं इससे भगवान प्रसन्न होत हैं. विज्ञान के अनुसार व्रत रखने से पाचन क्रिया ठीक रहती है. रिचर्स के अनुसार व्रत, करने से कैंसर, हृदय संबंधी, मधुमेह आदि बीमारियों का खतरा कम हो जाता है.

ये है हिंदू धर्म की मान्यताएं – अब तो आप समझ ही गए होंगे कि ये हिंदू मान्यताएं यूं ही नहीं बनाई गई, इसके बहुत से फायदे है, तभी तो सदियों से हमारे पूर्वज इन्हें मानते आ रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..