ENG | HINDI

रूस में था हिंदू धर्म का बोलबाला ! जानिए क्या कहता है एक हज़ार साल पहले का इतिहास !

रूस में हिंदू धर्म

कई मूर्तियां देते हैं रूस में हिंदू धर्म का प्रमाण

आज भी रूस के प्राचीन धर्म से संबंधित कई ऐसे निशान मिलते हैं, जो इस बात का प्रमाण देते हैं कि रूस का पुराना धर्म हिंदू धर्म से काफी हद तक मिलता है.

रूस में पुरातत्व विभाग की ओर से खुदाई करने पर प्राचीन देवी देवताओं की लकड़ी या पत्थर की बनी मूर्तियां मिल जाती हैं. इनमें से कुछ मूर्तियों में दुर्गा माता की तरह अनेक सिर और अनेक हाथ बने होते हैं.

कुछ साल पहले ही रूस में वोल्गा प्रांत के स्ताराया मायना गांव में विष्णु की मूर्ति मिली थी जिसे 7-10वीं ईसवी सन का बताया गया. इसके अलावा यहां खनन के दौरान प्राचीन सिक्के, पदक, अंगूठियां और शस्त्र भी मिले हैं.

स्ताराया गांव के बारे में कहा जाता है कि यह गांव 1700 साल पहले एक प्राचीन और विशाल शहर हुआ करता था, जहां स्लाव लोगों के आने से पहले शायद भारतीय लोग रहे होंगे.

आमतौर से यह माना जाता है कि ईसाई धर्म करीब 1,000 वर्ष पहले रूस के मौजूदा इलाके में फैला. यह भी उल्लेखनीय है कि रूसी भाषा के करीब 2,000 शब्द संस्कृत मूल के हैं.

russia-1

गौरतलब है कि रूस में आज भी कई ऐसी ऐतिहासित चीजें देखने को मिल जाती हैं जिनके अध्ययन से यह प्रमाण मिलता है कि आज से 1 हज़ार साल पहले रूस में हिंदू धर्म का ही बोलबाला था.

1 2 3 4

Don't Miss! random posts ..