ENG | HINDI

अमेरिका चुनाव में ऐसे खेला जा रहा है हिंदू मुस्लिम कार्ड

अमेरिका चुनाव

चुनावों में हिंदू मुस्लिम का कार्ड केवल भारत में ही नहीं खेला जाता बल्कि अब तो यह अमेरिका चुनाव में भी खेला जा रहा है.

8 नवंबर को अमेरिका चुनाव में राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले आम चुनावों के प्रचार में हिंदू मुसलमान के मुद्दे का भी प्रयोग किया जा रहा है.

कश्मीरी पंडितों और आतंकवाद से पीड़ित बांग्लादेशी हिंदुओं द्वारा आयोजित समारोह में ट्रंप ने कहा, मैं हिंदू और भारत का एक बड़ा प्रशंसक हूं. यदि मैं चुना जाता हूं तो भारतीय और हिंदू समुदाय को व्हाइट हाउस में एक सच्चा दोस्त मिल जाएगा।

यही नहीं भारतीय समुदाय के लोगों के कठोर परिश्रम और उद्यम की तारीफ करते हुए ट्रंप ने कहा, हिंदुओं और इंडो अमेरिकी लोगों की कई पीढ़ियों ने देश को मजबूती दी है. चुनाव से पूर्व डोनाल्ड ट्रंप का यह बयान बताता है कि वे जानते है कि यूएस में भारतीयों की जो बहुत बड़ी आबादी रहती है उसमें हिंदू काफी संख्या में हैं.

यदि डोनाल्ड ट्रंप के शब्दो पर गौर किया जाए तो वे अपने शब्दों में भारतीयों के साथ हिंदू शब्द पर बार बार बल दे रहे हैं. साथ ही ट्रंप चुनावों में मोदी कार्ड भी खेलने से भी नहीं चूक रहे हैं.

ट्रंप ने कहा, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करने का इंतजार कर रहा हूं.

ट्रंप जान रहे हैं कि यूएस में रह रहे भारतीयों का एक बहुत बड़ा वर्ग मोदी को पंसद करता है.

मोदी की छवि एक कट्टर हिंदू और कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद के मुखर विरोधी नेता की है. यानी अगर भारतीय चाहते हैं कि भारत में आतंकवाद और चीन से मुकाबला करने के लिए अमेरिका भारत का साथ दे तो उनको यूएस राष्ट्रपति के रूप में ट्रंप के पक्ष में मतदान करना चाहिए।

दरअसल, ट्रंप के चुनावी बयानों में एकाएक हिंदू शब्दों का प्रयोग हाने के पीछे एक वजह वह चुनावी सर्वें भी है जिसमें बताया गया है कि मुस्लिम मतदाताओं की बड़ी संख्या पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को पंसद करती है. इस सर्वें के बाद से ही ट्रंप के बयानों में भारतीयों के साथ साथ हिंदू शब्द का बार बार प्रयोग किया जा रहा है।

आम अमेरिका चुनाव से पहले हाल में काउंसिल ऑन अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशन्स (सीएआईआर) की ओर से कराए गए सर्वेक्षण के नतीजे जारी किए.इस सर्वेक्षण में शामिल 72 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के लिए वोट डालेंगे. वर्ष 2016 के आकलन के अनुसार, अमेरिका में 33 लाख अमेरिकी-मुस्लिम हैं और यह संख्या अमेरिका की कुल जनसंख्या का लगभग एक प्रतिशत है.

यही नहीं इस्लामी आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल न करने को लेकर अपनी प्रतिद्वंद्वी हिलेरी क्लिंटन की आलोचना तो कर ही रहे हैं साथ ही चरमपंथी इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका के साथ देने के लिए भारत की भूमिका की सराहना कर रहे हैं.

ट्रंप आतंकी गतिविधियों के लिए लगातार मुस्लिमों पर आरोप लगाते रहे हैं.

मुस्लिम समुदाय पर सीधे तौर पर किए गए ट्रंप के हमलों को इस समुदाय के बीच उनके लिए समर्थन की कमी की वजह के रूप में देखा जा सकता है.

यही वजह है कि अमेरिका चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने हर तरफ से घिरने के बाद अब अमेरिका में रह रहे भारतीयों को खुश करने के लिए न केवल हिंदू शब्द का प्रयोग कर रहे हैं बल्कि हिंदू धर्म और भारतीय संस्कृति की भी तारीफ कर रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..