ENG | HINDI

नए साल में आपके इंटरनेट को मिलने लगेगी इतनी स्पीड कि…

हाई स्पीड इंटरेनट

हाई स्पीड इंटरेनट – आने वाले नए साल में मोदी सरकार आपकों एक ऐसा तोहफा देने जा रही हैं जिसके बाद आपकों अपने इंटरनेट की स्पीड को लेकर रोना नहीं पड़ेगा.

खासकर उन लोगों को जिन्हें आनलाइन वीडियों कालिंग और फिल्म देखने का शौक है. जल्द ही आपको भी अमेरिका आदि देशों की तरह हाई स्पीड इंटरेनट मिलने लगेगा. इसके लिए आप को बस महज 18 महीने का इंतजार करना पड़ेगा.

क्योंकि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) तीन संचार उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजने की योजना पर काम कर रहा है. इसका मकसद देश में हाई स्पीड इंटरनेट युग की शुरुआत करना है.

इसरो के चेयरमेन किरन कुमार ने मीडिया को बताया कि इसरों तीन कम्यूनिकेशन सैटलाइट्स लॉन्च करेंगे. जून में जीसैट-19 की लॉन्चिंग होगी. उसके बाद  जीसैट- 11  और फिर जीसैट-20 का प्रक्षेपण किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार ये उपग्रह मल्टिपल स्पॉट बीम (हाई फ्रीक्वेंसी पर काम करनेवाला एक खास तरह का ट्रांसपॉन्डर) का इस्तेमाल करेगा जिससे इंटरनेट स्पीड और कनेक्टिविटी बढ़ जाएगी. साथ ही ये मल्टिपल स्पॉट बीम पूरे देश को कवर करेगी.

गौरतलब है कि भारत में इंटरनेट यूजर जहां अमेरिका से भी ज्यादा हैं और  इंटरनेट इस्तेमाल करने के मामले पर भारत चीन के बाद दुनिया में दूसरे स्थान पर है. वहीं इसके उलट इंटरनेट स्पीड के मामले में भारत एशिया के कई देशों से पीछे है.

लेकिन अब वो दिन दूर नहीं जब ये स्थित बदलने वाली है. अगले साल यानी 2018 में भारत इस मामले में दुनिया के कई बड़े देशों को पीछे छोड़ देगा.

क्योंकि इसरो जिस उपग्रह मल्टिपल स्पॉट बीम का प्रयोग करने जा रहा है दरअसल, वह स्पॉट बीम एक सैटलाइट सिग्नल होती है जिसका विशेष प्रयोग धरती के सीमित इलाके को कवर करने में किया जाता है. इससे इंटरनेट यूजर्स को हाई स्पीड इंटरनेट प्राप्त होता है.

बताया जाता है कि बीम जितनी संकरी होगी, उतनी ज्यादा ताकतवर होगी. तीनों उपग्रह छोटे-छोटे इलाकों पर बीमों (सिग्नलों) का बार-बार इस्तेमाल करेंगे. इसके उलट, पारंपरिक उपग्रह तकनीक में बड़े क्षेत्र को कवर करने के लिए एक ही बीम का इस्तेमाल होता है.

जैसे हीये तीनों सैटलाइट संचालन में आते ही हाई-क्वलिटी इंटरनेट, फोन और विडियो सर्विसेज – हाई स्पीड इंटरेनट देना शुरू कर देंगे.

Don't Miss! random posts ..