ENG | HINDI

यहाँ पर भारतीय और बांग्लादेशी मिलकर कर रहे है पाकिस्तानियों का कत्लेआम !

भारत और बांग्लादेश

भारत और बांग्लादेश दोनों पड़ोसी देश है.

दोनों के रिश्ते भले ही कैसे भी हो लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ दोनों हमेशा साथ ही दिखाई देते है। क्योंकि जितनी दुश्मनी हमारी पाकिस्तान से है उससे कई गुणा ज्यादा कट्टर दुश्मनी बांग्लादेश की पाकिस्तान से है।

हमारे पड़ोसी देश बांग्लादेश को पाकिस्तान से आज़ाद करवाने में भारत ने अहम निभाई थी। शायद एक वजह ये भी है इसलिए पाकिस्तान हमारे लिए हमेशा जहर उगलता रहता है। हालाँकि ये बात 1971 की है जब देश पर इंदिरा गाँधी का राज हुआ करता था।

जब 1947 में भारत आजाद हुआ, तब बांग्लादेश पूर्वी पाकिस्तान बना।

मोहम्मद अली जिन्ना ने बांग्लादेशियों को हिदायत दी कि ये भी पाकिस्तान का हिस्सा है और यहाँ पर सिर्फ उर्दू ही राजभाषा कहलाएगी बांग्ला नहीं। उसी लम्हें बांग्लादेश की जनता ये समझ चुकी थी उनकी पाकिस्तान से नहीं बनने वाली है। और बाद में ऐसा ही हुआ अलग देश बनाने की मांग उठने लगी। पाकिस्तानी आर्मी ने जुल्मों-सितम की इन्तेहा कर दी, जो बाद में जंग में तब्दील हो गई और ये जंग बांग्लादेश की आज़ादी के साथ ही ख़त्म हुई।

लेकिन अब उन लाखों बांग्लादेशियों का बदला लिया जा रहा है।

जी हाँ बांग्लादेश पर पाकिस्तानी आर्मी का बदला अब लिया जा रहा है. यहां सरेआम पाकिस्तानियों को मार रहे है बांग्लादेशी।

दरअसल इन दिनों बांग्लादेश में एक एंड्राइड गेम धूम मचाए हुए है। ये गेम 1971 के युद्ध के बैकड्रॉप पर बना है। ये गेम भारत और बांग्लादेश में भयंकर पॉपुलर हो गया है। ‘हिरोज ऑफ़ 71:प्रतिशोध’ – Heroes of 71: Retaliation – नाम से बना ये गेम पाकिस्तानी आर्मी के खिलाफ़ बांग्लादेशियों  के गुस्से का प्रतिक है।

कहा जाता है कि इस गेम को बनाने में बांग्लादेशी सरकार की भी फंडिंग रही है।

बांग्लादेशी अख़बार डेली स्टार के मुताबिक इस गेम को अब तक 40 लाख से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके है। दिलचस्प बात ये है कि इस गेम को डाउनलोड करने वालो में 15 लाख बंगलादेशी है तो 25 लाख भारतीय है। ये गेम यूथ के बीच काफी पॉपुलर हो रहा है। इसमें भारत और बांग्लादेश मिलकर पाकिस्तान से लोहा ले रहे है और पाकिस्तानी आर्मी का सफाया कर रहे है।

Don't Miss! random posts ..