ENG | HINDI

नवरात्रि व्रत को आसान बनायेंगे ये 10 पौष्टिक आहार

नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार

नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार – दोस्तों 9 दिनों का व्रत काफी लंबा होता है.

ऐसे में अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए सही तरह के आहार का सेवन करना बेहद आवश्यक होता है.

इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं कुछ नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार, जिसके सेवन से व्रत के दौरान आप अपने-आपको सेहतमंद बनाए रख सकते हैं.

नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार – 

1.  साबूदाना
साबूदाने का प्रयोग व्रत के आहार में आप कर सकते हैं. इसके बहुत सारे फायदे हैं. साबूदाना में कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में मौजूद होती है. साथ हीं इसमें कैल्शियम और विटामिन सी भी होते हैं. साबुदाना पकने के बाद हल्का पारदर्शी, स्पंजी और नर्म हो जाता है. उपवास के दौरान कई तरह से इसका सेवन कर सकते हैं. जैसे साबूदाने की खीर, पूरी, पापड़, खिचड़ी इत्यादि.

2.  आलू
नवरात्रि के व्रत में आलू का सेवन खूब किया जाता है. क्योंकि पौष्टिक तत्वों से भरा होता है ये आलू. इसमें सबसे ज्यादा स्टार्च की मात्रा होती है. आलू को उबालकर सेवन करने से शरीर की अतिरिक्त चर्बी खत्म हो जाती है. साथ हीं आलू के पापड़ और चिप्स भी उपवास के दौरान खाए जा सकते हैं. लेकिन सेहत के हिसाब से है फायदेमंद नहीं है.

3.  ड्राई फ्रूट्स
उपवास के दौरान ड्राई फ्रूट्स जैसे बादाम, किशमिश, काजू, पिस्ता, अखरोट, मखाने और बादाम गिरी इत्यादि का सेवन कर सकते हैं. ड्राई फ्रूट्स खाने से शरीर को बहुत ज्यादा ऊर्जा मिलती है. व्रत के दौरान ड्रायफ्रूट, मूंगफली की गिरी और मसाले के साथ मीठा मिलाकर नमकीन बना कर भी खाया जा सकता है. साथ हीं व्रत के दौरान कई लोग मेवे की खीर भी खाना पसंद करते हैं. वैसे ये सेहत के लिहाज से सही नहीं है. लेकिन अगर आप इसमें चीनी की मात्रा कम डालते हैं तो खा सकते हैं.

4.  फल
व्रत के दौरान ज्यादा से ज्यादा फलों का सेवन करें. अलग-अलग तरह के फलों में एंटीऑक्सीडेंट्स, मिनरल इत्यादि की मात्रा ज्यादा पाई जाती है. लेकिन इस बात का खास ध्यान रखें कि आप जिस भी फल का भी सेवन करें, वो ताजे होने चाहिए. जिससे की आपके स्वास्थ्य पर इसका विपरीत असर ना पड़े. आप चाहें तो ताजे फलों को एक साथ मिलाकर फ्रूट चार्ट भी बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं. फलों को आप कच्चा भी खा सकते हैं, या फलों का जूस या रायता इत्यादि बनाकर भी आप सेवन कर सकते हैं.

5.  कुट्टू का आटा
कुट्टू के आटे से बने खाद्य पदार्थों का सेवन आप अपने उपवास के दौरान कर सकते हैं. कुट्टू या फिर सिंघाड़े के आटे की रोटी, पकौड़ी इत्यादि बनाकर खा सकते हैं. व्रत के दौरान ये सबसे आसानी से बनने वाला पौष्टिक और स्वादिष्ट आहार है.

6.  दूध
नवरात्रि व्रत के दिनों में दूध और दूध से बने हुए पदार्थ जैसे दही, लस्सी, पनीर, मट्ठे इत्यादि का सेवन भी किया जा सकता है. दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है, जो आपके शरीर को कैलोरी प्रदान करने वाला होता है. व्रत के दिनों में कम भोजन खाने से भी  ऊर्जा का स्तर सही बना रहता है.

अधिक पढ़िए : नवरात्रे के शुभ दिनों में इन चीज़ों को घर लाने से बढ़ेगी सुख-समृद्धि

7.  दही
उपवास के दौरान दही का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है. दूध की अपेक्षा दही में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है. दही में मौजूद पोषक तत्व तथा बैक्टीरिया शरीर के लिए एंटीबायोटिक का काम करते हैं. दही में लेक्टोज, प्रोटीन, लोहा, कैल्शियम, फास्फोरस इत्यादि कई तरह के विटामिंस मौजूद होते हैं. इसलिए दही को ज्यादा पौष्टिक आहार माना गया है. व्रत के दौरान दही को कई तरह से खाया जा सकता है. फल और फलाहार में भी दही मिलाकर खा सकते हैं.

8.  मिठाईयां
उपवास के दौरान आप कई तरह की मिठाइयों का सेवन कर सकते हैं. व्रत में खाने से पहले या खाने के बाद आप मिठाई खा सकते हैं. अगर उपवास के दौरान भूख ज्यादा लगती है, तो मिठाई खाकर काफी हद तक भूख को शांत किया जा सकता है. मिठाई में आप नारियल के लड्डू या फिर तिल के लड्डू का सेवन कर सकते हैं.

9.  चाय
उपवास के दौरान भूख लगना स्वाभाविक सी बात है. लेकिन अगर कुछ समय के अंतराल पर चाय पीते रहें तो भूख पर नियंत्रण पाया जा सकता है. साथ हीं थकान भी दूर होती है. और एनर्जी बरकरार रहती है. इसके अलावा चाय में कॉफी की तरह ऐंटि-ऑक्सिडेंट तत्व भी मौजूद होता है, जो शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है. चाय आपको ताजगी का अहसास दिलाती है. साथ हीं बीमारियों से बचाव भी करती है. व्रत के दौरान ग्रीन टी का सेवन करना भी फायदेमंद होता है.

अधिक पढ़िए : नवरात्रि के ये चमत्‍कारिक उपाय बदल सकते हैं आपकी किस्‍मत

10.  जूस
व्रत के दौरान अलग-अलग तरह के फलों से बने जूस का सेवन करना चाहिए. उपवास के दौरान फलों का जूस पीना स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है. जूस पीने से आपके शरीर में पानी की कमी नहीं हो पाएगी. और डिहाइड्रेशन से भी बच पाएंगे. आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैलोरी भी मिल जाएगी. लेकिन इस बात का खास ध्यान रखें, कि अपने जूस में चीनी की मात्रा कम रखें.

ये है नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार – तो दोस्तों इस तरह से आप अपने उपवास को नवरात्रि व्रत के पौष्टिक आहार से आसानी से हेल्दी उपवास बना सकते हैं. ध्यान रखें उपवास का मतलब कतई ये नहीं होता कि आप दिनभर भूखे-प्यासे रहें. कुछ-ना-कुछ खाते और पीते रहें. अगर आपके शरीर को भरपूर मात्रा में पौष्टिक आहार मिलते रहेंगे, तो उपवास के दौरान आप स्वस्थ बने रहेंगे.

Don't Miss! random posts ..