ENG | HINDI

क्या आपने लड़कियों की इस आदत को गौर किया है ?

कौन कहता है कि लड़कियां फ्लर्ट नहीं करतीं? क्या कभी आपने देखा है किसी लड़की को फ्लर्ट करते हुए? या फिर किसी एक के साथ होने के बा दभी दूसरे लड़के को देखना, उसे इशारे करना या फिर अपनी अदाओं से उसे ये जाता देना कि वो आपको पसंद कर रही हैं? आप में से अधिकतर लड़के ये कहेंगे कि लड़कियां ऐसा नहीं करतीं, ये सारी आदतें तो लड़कों की हैं, लेकिन हम कटे हैं की आप गलत हैं. आजकल की लड़कियां बिलकुल ऐसा ही करती हैं. बस, ज़रुरत है तो आपको गौर करने के. कुछ दिन ऐसा करके देखिए आपको खुद पता चल जाएगा.

लड़कियों की ये आदत अब बहुत ही आम होती जा रही है. अधिकतर लड़कियां ऐसा करने लगी हैं. पहले लड़कियों का ऐसा करना बिलकुल अच्छा नहीं माना जाता था, लेकिन अब सबकुछ जायज़ है. दरअसल बात ये है कि लड़कियां पहले की तरह अब शर्माती नहीं, वो खुलेआम लकड़ों को फ्लर्ट करती हैं. एक आम लड़की भी ऐसा करती है. विश्वास नहीं होता न, तो सुनिए इन लड़कियों की बातें.

मुंबई के एक नामचीन कॉलेज में पढने वाली दीपाली कहती हैं कि इसमें बुराई ही क्या है. “पहले की बात और थी. तब लड़कियां इतना बाहर नहीं जाती थीं और न ही लड़कों के संपर्क में आती थीं, लेकिन अब ज़माना बदल गया है. अगर लड़के हमें आँख मार सकते हैं तो हम भी उन्हें आँख मार सकते हैं. जब लड़के खुलेआम हमें प्रोपोज़ कर सकते हैं तो हम भी कर सकते हैं. मई अपनी बात बताऊँ तो मैंने अपने बॉयफ्रेंड को खुद प्रपोज़ किया था. वो शरमा रहा था, लेकिन मैं नहीं. हाँ, मैं ये बताना चाहूंगी कि मैं भी जब अपने बॉयफ्रेंड के सतह नहीं होती हूँ तो दूसरे लड़कों को लाइन देती हूँ. उन्हें अपनी ओर आकर्षित करने के लिए कई तरह की चल चलती हूँ. कभी कोई बहाना तो कभी कोई. मुझे लगता है कि इसमें कोई बुराई नहीं है.”

बिहार के मधुबनी की रहने वाली २५ साल की कनुप्रिया कहती हैं कि अब वो वो बता रह ही नहीं गई. ये लड़के भी जानते हैं. मैं खुद भी लड़कों से फ्लर्ट करती हूँ. मेरे ऑफिस में दो लड़के हैं जो मुझे बहुत अच्छे लगते हैं. हालाँकि मेरा बॉयफ्रेंड है लेकिन मैं उन लडकों को फ्लर्ट करना नहीं छोडती. उनके साथ कॉफ़ी पीना या शोपिंग के लिए जाना कोई बुराई नहीं है. जब बॉय ऐसा कर सकते हैं तो हम क्यों नहीं. मज एकी बात तो ये है कि लड़के इस चीज़ को जानते हैं और बुरा नहीं मानते, बल्कि उन्हें इस तरह की लड़कियां अच्छी लगती हैं.

लड़कियों की ये बात सुनकर हमें तो हैरानी हो रही है, लेकिन क्या आपको भी हो रही है? ये हवा का रुख है. ज़माना करवट ले रहा है तो बदलाव तो संभव हैं. अब जब लड़के और लड़की में कोई फर्क नहीं रह गया है तो ये बात लोगों को बुरी नहीं लगनी चाहिए. इसे अप भी जान लें और इस तरह की लकड़ियों की आदत को गौर से देखें और उन्हें सपोर्ट करें.

Don't Miss! random posts ..