ENG | HINDI

गुरू गोविंद सिंह जी की अनदेखी तस्वीरें ! गुरुजी के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

गुरू गोविंद सिंह

गुरू गोविंद सिंह जी, सिखों के दसवें गुरु थे. इनका जन्म बिहार के पटना नगर में हुआ था. गुरू गोविंद सिंह जी बचपन से ही अपने महान कार्यों की वजह से लोगों का ध्यान खींच रहे थे. गुरु जी ने मुग़ल साम्राज्य की नींद हराम कर दी थी.

आज हम आपको गुरू गोविंद सिंह जी की कुछ तस्वीरें दिखाने वाले हैं जो आपने आज तक नहीं देखी होंगी-

1. पहली तस्वीर को बहुत ही कम लोगों ने देखा है. इसमें दावा किया गया है कि सबसे पहले घोड़े पर गुरू जी हैं और बाद में क्रमशः इनके बेटे हैं. यहाँ वह भारत माता की रक्षा के लिए जा रहे हैं.

गुरू गोविन्द सिंह जी

2. आनंदपुर युद्ध के बाद की यह तस्वीर हैं जिसमें गुरू गोविंद सिंह के परिवार को दिखाया गया है.

गुरू गोविन्द सिंह जी

3. दुश्मनों से युद्ध करते हुए गुरू गोविंद सिंह जी.

गुरू गोविन्द सिंह जी

4. यह तस्वीर एक चित्रकार ने बनाई है. गुरूजी जब गद्दी पर बैठे तो इनके समय में सिख लोग मानने वालों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी थी.

गुरू गोविन्द सिंह जी

5. आनंदपुर में रहकर गुरु जी ने असली तप किया था. यहाँ रहकर इन्होनें हिन्दू धर्म की सभी किताबें पढ़ी थी और देश व् धर्म की रक्षा का प्राण लिया था.

गुरू गोविन्द सिंह जी

6. गुरु गोविन्द जी ने पांच ककार को सिख धर्म की पहचान बताया और इन पांच चीजों से अपने योधाओं को वीरता और निडरता का पाठ पढ़ाया था.

गुरू गोविन्द सिंह जी

7. पंच प्यारों को अमृत का पान कराकर, सिख धर्म ग्रहण कराते हुए गुरू गोविंद सिंह जी. इससे पहले इन्हीं पाँचों लोगों की कुर्बानी लेकर, गुरु जी ने इनकी वीरता सिद्ध की थी.

गुरू गोविन्द सिंह जी

8. इतिहास की पुस्तकें बताती हैं कि गुरूजी ने बादशाह औरंगजेब की नींद उड़ा दी थी. असल में गुरू गोविंद सिंह जी तो बस धर्म का प्रचार कर रहे थे और औरंगजेब इससे काफी डर रहा था.

गुरू गोविन्द सिंह जी

9. गुरू गोविंद सिंह जी ने अपने देश और धर्म के लिए अपनों का भी बलिदान दिया था. लेकिन धर्म की रक्षा के लिए उन्होंने कभी अपने कदम पीछे नहीं हटाये.

गुरू गोविन्द सिंह जी

10. गुरू गोविंद सिंह जी ने वाकई भारत के लिए काफी कुछ किया था. जीवन के आखिरी दस सालों में तो इन्होनें वाकई सराहनीय कार्य किये थे. गुरु ग्रंथ साहिब ही सिखों के लिए कब कुछ हैं, ऐसा ज्ञान भी इन्होनें ही सभी को दिया.

गुरू गोविन्द सिंह जी

तो गुरू गोविंद सिंह जी जैसा वीर योद्धा भारतीय इतिहास के लिए गर्व की बात है. हम प्रार्थना करते हैं कि गुरु जी एक बार फिर भारत में अवतार धारण करें और समाज को राह दिखायें.

Don't Miss! random posts ..