ENG | HINDI

गूगल के लिए ये काम करके आप पा सकते हैं 5 लाख का ईनाम

गूगल के डूडल

गूगल के डूडल – दुनियाभर के प्रतिभावान लोगों के लिए गूगल कुछ ना कुछ लाता रहता है।

अब गूगल की ओर से ‘2018 डूडल 4 गूगल’ प्रतियोगिता की घोषणा की गई है। इसमें पूरे भारत से क्रिएटिव, कला प्रेमी विद्यार्थियों को आमंत्रित किया गया है।

आपको बता दें कि इस गूगल के डूडल प्रतियोगिता में सर्च ईंजन के लिए लोगो बनाने के लिए उनकी कल्‍पनाशीलता को परखा जाएगा।

इस साल गूगल के डूडल की इस प्रतियोगिता का विषय ‘ what inspires you’ यानि की आपको क्‍या प्रेरित करता है रखा गया है। गूगल के डूडल में शामिल अक्षरों को मोम, मिट्टी, वॉटर कलर्स और ग्राफिक डिजाइन की मदद से बनाया जा सकता है।

इस बारे में गूगल कंपनी का कहना है कि विनर को अपनी कलाकृति के माध्‍यम से अपनी प्रेरणा साझा करने के अवसर के साथ 5 लाख रुपए की कॉलेज छात्रवृत्ति भी दी जाएगी। जीतने वाले डूडल को गूगल के होमपेज पर बाल दिवस के दिन प्रदर्शित किया जाएगा।

आपको बता दें कि इस प्रतियोगिता में एक से दस तक की कक्षा के विद्यार्थी हिस्‍सा ले सकते हैं। यहां पर अपनी रचना को जमा करवाने की अंतिम तिथि 6 अक्‍टूबर रखी गई है। इस साल जजों की समिति के साथ गूगल में डूडल टीम के लीडर रेयान जर्मिक सभी कलाकृतियों की समीक्षा करेंगें। पैनल द्वारा 20 डूडल शॉर्ट लिस्‍ट किए जाने के बाद उन्‍हें सार्वजनिक वोटिंग के लिए 23 अक्‍टूबर से लेकर 5 नवंबर तक रखा जाएगा।

डूडल 4 गूगल इंडिया के प्रथम संस्‍करण का आयोजन साल 2009 में पहली बार हुआ था और इस प्रतियोगिता का विषय था ‘ मेरा भारत’।

अब देखते हैं कि इस बार भारत के किस होनहार बच्‍चे को ये मौका मिलता है और जीत का ताज किसके सिर चढ़ता है।

वैसे देखा जाए तो गूगल की किसी भी प्रतियोगिता में हिस्‍सा लेना बहुत बड़ी बात है। इसमें शामिल हुए बच्‍चे जीते या ना जीतें लेकिन इसमें हिस्‍सा लेकर ही वो बहुत बड़े साबित हो जाएंगें।

वहीं अगर आप विजेता बच्‍चे की कलाकृति को देखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बाल दिवस यानि 14 नवंबर तक का इंतजार करना पड़ेगा क्‍योंकि गूगल अपने विजेता की कलाकृति को इसी दिन सभी के लिए प्रदर्शित करेगा।

भारत के लिए ये बहुत गर्व की बात है कि गूगल के डूडल जैसी इंटरनेशन कंपनी भारत के बच्‍चों की प्रतिभा को पहचानती है और उन्‍हें इतना बड़ा मौका दे रही है।

आपको बता दें कि गूगल एक अमेरिकी बहुराष्‍ट्रीय कंपनी है जिसने इंटरनेट सर्च, क्‍लाउड कंप्‍यूटिंग और विज्ञापन तंत्र के क्षेत्र में खूब पैसा और नाम कमाया है। इसे लैरी पेज ओर सर्गेई बिन ने स्‍थापित किया था। इन्‍हें ‘गूगल गाइस’ के नाम से संबोधित किया जाता है।

गूगल दुनियाभर में फैले अपने डाटा केंद्रो से दस लाख से भी ज्‍यादा सर्वर चलाता है और दस अरब से ज्‍यादा खोज-अनुरोध तथा चौबीस पेटाबाईट उपभोक्‍ता संबंधित जानकारी संसाधित करता है।

गूगल की संयुक्‍ति के बाद इसका विकास बहुत तेजी से हुआ है जिसकी वजह से कंपनी ने कई और चीज़ें भी लॉन्‍च करने में सफल रही है। ये प्रतियोगिता भी इसी का एक हिस्‍सा है।

आज पूरी दुनिया में गूगल का वर्चस्‍व फैला हुआ है।

Don't Miss! random posts ..