ENG | HINDI

लड़कियों के दिमाग में लड़कों से इश्क़ लड़ाने से ज़्यादा ये बात रहती है

अब वो समय गया जब घर के बड़े-बूढ़े कहते थे कि लड़कियों को बड़ी होकर चूल्हा चौका ही संभालना है. इन्हें किसी लड़के से शादी करके उसका घर और बच्चे संभालने हैं. ये आधुनिक युग है और इसमें सबकुछ इस तरह से बदल रहा है कि विश्वास करना मुश्किल हो जाता है. आज की लड़कियों के दिमाग में किसी लड़के से शादी कर उसका घर बसाने से ज्यादा उनका करियर ज़रूरी हो गया है. विश्वास न हो तो इस लड़की की बात सुनिए.

ये कहानी है हमारे पड़ोसी मुल्क की एक १४ साल की बेटी की. जी हाँ, ये कहानी नेपाल के एक गाँव की है. १४ साल की एक लड़की को उसके माँ बाप ने स्कूल भेजने से मन किया और कहा कि वो शादी कर ले. इसके पीछे का सच ये है कि उस गाँव से स्कूल काफी दूर है और रास्ते में लड़के लड़कियों को छेड़ते हैं. उन्हें डर था की कहीं कभी उनकी बेटी के साथ बलात्कार जैसी कोई घटना न हो जाए. ऐसा हो गया तो कहीं के नहीं रह जाएंगे. एक गरीब माता-पिता के लिए ये डर बहुत सामान्य होता है.

लेकिन १४ साल की इस लड़की के मन में किसी की बीवी बनकर उसके बिस्तर को गरम करने की बजाय कुछ और ही था. पढ़ाई में पैसे ज्यादा लगने की वजह से उसने पढाई तो छोड़ दी, एल्किन अपने माता-पिता के सामने बिज़नेस का एक सुझाव रखा. उसने हाथ से बनी वस्तुओं को बेचकर पैसा कमाने की राह दिखाई.

१४ साल की लड़की के मुंह से व्यापार जैसी बातें सुनकर माता-पिता को अच्छा नहीं लगा. उन्होंने कई दिन उसे समझाने की कोशिश की, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला. लड़की ने साफ़ शब्दों में कह दिया कि उसे किसी लड़के से अभी शादी करके बच्चे पैदा करने से ज्यादा ज़रूरी व्यापार करके आगे की पढ़ाई पूरी करना बेहतर लगता है.

ये कहानी सिर्फ नेपाल के छोटे से गाँव की उस १४ साल की लड़की की नहीं है. अब तो हर लड़की के मन में यही रहता है. गाँव हो या शहर हर लड़की आज इश्क से पहले खुद को किसी जगह खड़ी होना देखना चाहती है.

Don't Miss! random posts ..