ENG | HINDI

शादी के लिए लड़का-लड़की उम्र में क्यों होना चाहिए अंतर, जानिए बड़ा कारण

शादी के लिए लड़की उम्र में लड़के से छोटी

शादी के लिए लड़की उम्र में लड़के से छोटी – जब भी लड़का और लड़की की शादी होती है तो हमेशा देखा जाता है कि शादी के दौरान लड़की की उम्र हमेशा से लड़के से कम होती है।

ज्यादातर जोड़ों में यही देखा जाता है कि लड़की हमेशा से लड़के से छोटी होती है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ऐसा होता क्यों है?

आखिर क्यों हमेशा शादी के लिए लड़की उम्र में लड़के से छोटी क्यों होती है?

शायद ही किसी ने इस सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश की होगी। लेकिन आज यंगिस्थान इस राज से पर्दा उठाएगा और आपको बताएगा कि आखिर इसके पीछे की वजह क्यां है?

तो आइए जानते हैं कि क्यों शादी के लिए लड़की उम्र में लड़के से छोटी क्यों होती है।

महिलाओं पर जल्दी दिखता है उम्र का असर: विशेषज्ञों के मुताबिक शादी में लड़की की उम्र लड़कों से कम होने का सबसे बड़ा कारण ये है कि लड़कों के मुकाबले लड़कियों में उम्र का असर जल्दी दिखने लगता है और वो पहले ही उम्रदराज नजर आने लगतीं हैं। जबकि लड़कों में उम्र का फर्क जल्दी नजर नहीं आता। ऐसे में लड़का और लड़की की उम्र के बीच समानता बनाए रखने के लिए ऐसा किया जाता है।

लड़का-लड़की के बीच तालमेल रहता है बेहतर: माना जाता है कि लड़के के उम्र में बड़ा होने से दोनों के बीच तालमेल अच्छा रहता है और दोनों एक दूसरे की इज्जत करते हैं। ये भी कहा जाता है कि लड़कियां स्वभाव से भावुक (इमोशनल) होतीं हैं और ऐसे में अगर लड़के की उम्र ज्यादा होती है तो वो लड़की को भावनात्मक सहारा दे सकता है। इसके अलावा लड़की भी उम्र में बड़े होने के कारण लड़के को इज्जत देती है और उसकी हर बात मानती है।

शादी के लिए लड़की उम्र में लड़के से छोटी – ये प्रथा हमारे समाज में बहुत पहले से चली आ रही है और ये पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ रही है। और ये सफल भी है। भारत में दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले तलाक के बाहद ही कम केस आते हैं और ज्यादातक शादियां सफल रहतीं हैं। दावा किया जाता है कि दोनों कि उम्र बराबर होने से पति-पत्नी के बीच ईगो (अहम) क्लैश होता है और घर का माहौल खराब होता है। इससे घर पर आय दिन लड़ाई-झगड़े होते हैं और एक-दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान का भाव नहीं रहता।

Don't Miss! random posts ..