ENG | HINDI

यहाँ पर एक रात में लाखों छाप रहे हैं युवा !

जिगोलो मार्केट

जिगोलो मार्केट – कॉलेज के स्‍टूडेंट अपनी लाइफ मज़े से गुज़ारने के लिए रात को काम करना पसंद कर रहे हैं।

यहां जो जितना अच्छा काम करेगा उसकी कमा और प्रमोशन उतनी ही ज्‍यादा जल्‍दी होगी। यह काम एक मार्किट द्वारा किया जाता है। ये मार्किट दिन में नहीं बल्कि रात को चलती है।

आमतौर पर युवा पीढ़ी कम समय में अधिक से अधिक पैसा कमाना चाहती है। 

युवा अपनी लाइफस्टाइल को बेहतर बनाने के लिएकिसी भी तरह का काम करने को उतारु हैजो उन्हें न्य कामों से अधिक पैसे दे सकें।

रात में लगती है ये जिगोलो मार्केट 

ऐसी युवा पीढ़ी के लिए दिल्ली में एक मार्किट हैं जहां वो काम करके अच्छा खासा पैसा कमा रहे हैं। इस मार्केट का नाम है जिगोलो मार्केट जिगोलो का मतलब है एस्कॉट या कॉल ब्वॉयज़।

यहां रात को मर्दों की मंडी लगती है। पैसा कमाने के लिए ये कॉलेज के स्टूडेंट अपने जिस्म का सौदा करने से भी पीछे नहीं हटते। यहां पुरुषों की बोली लगाती है। अच्छे घरों की महिलाएं यहां आकर लड़कों की बोली लगाती हैं।

दिल्‍ली में लगता है बाज़ार

दिल्ली में युवा खुलेआम जिस्म का सौदा करने लगे हैं। जिगोलो को बुक कराने का काम हाई-फाई क्लबों, पब और कॉफी हाउस में होता है। कुछ घण्टों की बुकिंग के लिए 1800 से  3000 और पूरी रात के लिए 8000 से लाखों तक की बोली लगती है।

यह काम बेहद नियोजित तरीके से किया जाता है। इस कमाई का 20% हिस्सा इन्हें अपनी संस्था को देना होता है।

इस काले बाजार को दिल्ली के कई युवा अपना प्रोफेशन बना चुके हैं। इस काम में इंजीनियर और मेडिकल छात्र अधिक हैं। यह बाजार रात को 10 बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक लगता है।

युवा पॉश इलाकों जैसे साउथ एक्स, आई एन ए, अंसल प्लाजा, कनॉट प्लेस आदि जगह जाकर खड़े हो जाते हैं।

यहां गाड़ी आकर रुकती हैं जिगोलो बैठते हैं और सौदा तय होने के बाद गाड़ी चलती है। जिगोलो की डिमांड उसके गले में बंधे पट्टे से की जाती है। यह पट्टा जिगोलो के लिंग का साइज बताता है।

इस काम से संबंधित 2012 में एक फिल्म आई थी- बी. ए. पास जिसमें इस काम के कई तथ्यों को दिखाया भी गया था।

Don't Miss! random posts ..