ENG | HINDI

पहले ही इंटरव्यू में कर लो अपनी नौकरी पक्की

interview

कॉलेज में पास आउट होने वाले छात्रों को अक्सर ऐसा लगता है कि उनकों तुरंत कोई जॉब मिल जायेगी, क्योंकि उनका ज्ञान ताज़ा है और अधिकतर कंपनियों को नए जोशीले कर्मचारी चाहिए होते है.

यह सच है!

किंतु सभी प्रकार की नौकरियों में ऐसा गणित नहीं रहता है.

छात्र कितना भी टॉपर क्यों ना हो, वह इंटरव्यू में रिजेक्ट हो सकता है और किसी कम मार्क वाले को जाब का कॉल तुरंत आ सकता है. तब उस कैंडीडेट को ऐसा लगता है कि यह तो केवल मेरे साथ ही होता है, होशियार होने के बावजूद मुझे नौकरी नहीं मिलती.

दरअसल, इंटरव्यू में होशियार से अधिक चालक होना बहुत जरुरी होता है.

यह गुण किसी भी मौकापरस्त इंसान के पास अच्छा ख़ासा होता है.

इंटरव्यू का बुलावा कैसे प्राप्त करे ?

इंटरव्यू में सिलेक्ट होने से पहले कॉल आना जरुरी होता है.

इस के लिए आपको अपना बायोडाटा आसान और प्रोफेशनल तरीके से मजेदार बनाना होगा.

बायोडाटा के कई प्रकार आपको इन्टरनेट पर मिलेंगे. जिस में जॉब प्रोफ़ाइल के मुताबिक़ बायोडाटा के नमूने मिलेंगे. हमेशा बायोडाटा को अपडेट रखे, चाहे वो हार्ड कोपी हो या सॉफ्ट कोपी. हाथो की उंगलियों पर गीने जाने वाली कुछ नौकरी के वेबसाईट है, उन पर भी हर एक हफ्ते बाद बायोडाटा अपडेट रखे.

इससे एच.आर को  समझ अता है की आपको नौकरी की कितनी आवश्यकता है.

जब भी नौकरी के लिए बायोडाटा भेजे, उसके साथ आवेदन जरुर भेजे.

आवेदन में ऐसी जानकारी हो जो आप के बायोडाटा में नहीं होगी. जिसे पढ़ कर कंपनी का मालिक या फिर एच.आर. को यह प्रतीत हो की आप इस जॉब के पात्र हो सकते हो.

इंटरव्यू कैसे दे जिससे आप सिलेक्ट हो जाओ?

इंटरव्यू को जाने से पहले आपको अपने व्यक्तित्व को अच्छे से चमकाना होगा.

व्यक्तित्व = मानसिक + शारिरिक + सामाजिक

जिस भी क्षेत्र में आप नौकरी खोज रहे हो आपको उसका ज्ञान होना आवश्यक है. अनुभव है तो अधिक उत्तम होता है, साथ में कुछ सामान्य ज्ञान जिससे आप अपडेटेड लगे.

इंटरव्यू के लिए जाते वक़्त औपचारिक कपड़े पहने. लड़के ट्राउज़र शर्ट और लड़कियां चूड़ीदार/ लेगइन्स कुर्ती पहन सकती है. मौसम को देखते हुए कपड़ो के रंग चुने. चमकीले और अधिक भढकिले ना हो.

इंटरव्यू की जगह पर पैर ज्यादा फैलाके और पैर पर पैर डालके ना बैठे.

शरीर की भाषा ( बॉडी लैंग्वेज) आत्म विश्वास से भरी हो. जितना हो सके घबराहट होने से बचे. इससे आपकी उर्जा व्यस्त हो जाती है और दिमाग सही नहीं चलता. बेहतर है अच्छा सोचे ताकि आपकी उर्जा सकारत्मक तरीके से आपका साथ दे सके.

इंटरव्यू देते वक़्त बातों में लचीलापन हो, जिससे इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति को यह लगे की आप उनके कंपनी के ढाँचे बैठ सकते हो.

अपने शैक्षिक और अनुभव के दस्तावेजों के झेरोक्स एक फ़ाइल में साथ रखे.

इंटरव्यू देते वक़्त इस तरह से दे, मानो की आप जो जबाव दे रहे है वही सच है, ऐसा विश्वास आप के चेहरे पर दिखाना चाहिए.

इस तरह आप अगर पूरी तैयारी के साथ जाते है, तो आधी से ज्यादा जंग आपने जीत ली है. अब केवल परिणाम आना ही बाकी रहेगा जो कोई भी कंपनी तुरंत नहीं बताती है. क्योंकि आपके पीछे भी कुछ लोग होते है जिनको इंटरव्यू देना रहता है.

यह सारी प्रक्रिया के बाद देखिये आपको कॉल जरुर आएगा. तो हो जाइए तैयार और करिए खुद को ग्रूम.

Don't Miss! random posts ..