ENG | HINDI

आज करोड़ों में खेल रहे हैं देश के ये फंडू स्‍टार्टअप्‍स !

फंडू स्‍टार्टअप्‍स

फंडू स्‍टार्टअप्‍स – आजकल लोग कई नए तरह के स्‍टार्टअप शुरु कर रहे हैं।

कुछ स्‍टार्टअप तो सुनने में बड़े अनोखे लगते हैं, इनके बारे में आपने सोचा भी नहीं होगा कि ऐसा भी कुछ हो सकता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ दिलचस्‍प फंडू स्‍टार्टअप्‍स के बारे में बता रहे हैं।

फंडू स्‍टार्टअप्‍स –

1 – फारमार्ट

उत्तर प्रदेश कीफारमार्ट कंपनी किसानों को जरूरी संसाधन दिलवाने का काम करती है। इस स्‍टार्टअप कंपनी में ऐसे लोगों को जोड़ा गया जिनके पास खेती के लिए जरूरी मशीनरी था। इन मशीनरी को किसानों तक पहुंचाया गया। मशीनरी वालों को नियमित काम मिल गया और किसानों का सस्‍ती दरों पर मशीनें मिल गईं।

2 – INDUS OS

आईआईटी के 3 स्‍टूडेंट्स ने मिलकर एक ऐसा स्‍टार्टअप ऐप शुरु किया जिसमें 10 क्षेत्रीय भाषाओं में 5000 ऐप बना डाले हैं। इन तीनों ने स्‍टार्टअप की शुरुआत में 5000 फोन खरीदें और उनमें ऑपरेटिंग सिस्‍टम डाला और उसे स्‍टोर्स में जाकर बेच दिया। ये आइडिया हिट हो गया और इनका स्‍टार्टअप आज पूरे देश में छा गया है।

3 – लीगल डेस्‍क

दो दोस्‍तों ने मिलकर एक ऐसा प्‍लेटफॉर्म तैयार किया जिसमें लोग घर बैठे ही कोर्ट-कचहरी का काम कर सकते हैं। इसमें आप गिफ्ट डीड, नाम बदलने या करेक्‍शन, लोन वगैरह के लिए एफिडेविट जैसे 100 डॉक्‍यूमेंट्स बनवा सकते हैं। एग्रिमेंट में साइन का करने का झंझट भी नहीं होता है।

4 – क्‍यूमैथ

मनन खुर्मा ने अपने स्‍टार्टअप द्वारा ऐसा मॉडल तैयार किया जहां घर में कैद महिलाएं आगे आकर बच्‍चों को पढ़ा सकें। मनन ने ऐसी महिलाओं को ट्रेनिंग दी और कुछ स्‍कूलों में नर्सरी से लेकर आठवीं तक पढ़ाना शुरु किया। आज मनन के साथ 2500 टीचर्स जुड़ी हुईं हैं।

5 – जुगनू

दिल्‍ली के आईआईटी के स्‍टूडेंट समर सिंगला ने एक ऐसी ऐप बनाई जिसमें आप ऑटो रिक्‍शा किराए पर ले सकते हैं। पहले ही दिन 90 लोगों ने ऐप से ऑटो बुक किया।

ये है वो फंडू स्‍टार्टअप्‍स जो मजाक मजाक में शुरू किया गए थे – ये स्‍टार्टअप बिजनेस और पैसा कमाने के लिए कम और मज़ाक में ज्‍यादा शुरु हुए थे।

Don't Miss! random posts ..