ENG | HINDI

इंसानों का सच्चा दोस्त मिलता है यहा, महज चंद पैसों में

books-for-20

भागती दौड़ती जींदगी में आज लोगों के पास कम समय होता है जिसे वो अपनों के साथ बिताए.

वही कुछ सुकून के पलों में भी काफी दुनिया भर के झमेलों को निपटाना पड़ता है. तब अपनों के साथ केवल व्यवहारिक बाते अधिक हो जाती है. ऐसे में मन और दिमाग को शांति नहीं मिल पाती है. तब आप घर के बहार कुछ खोजने की कोशीष करते है. किंतु प्रतियोगी दुनिया में किस पर भरोसा करे और किस पर नहीं यह बहुत ही कठिन बात है.

अपने पन का नकाब ओढे ये दोस्त एक दिन प्यार से गला काट जाते है.

इस लिए दोस्ती करनी हो तो सच्चे मित्र से करो जो आपको आइना दिखा सके. या फिर ऐसे दोस्त को अपनाओ जो आपसे हमेशा बात करके आपका बोझ हल्का कर सके. जी हा यही दोस्त आपको अब चंद पैसों में मिलेगा इसे खोजने के लिए आपको समय का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा.

ये इंसानों का सच्चा दोस्त कोई और नहीं किताबे है.

कहा मिलती है ये किताबे?

विभिन्न प्रकारों की ये किताबे पहले आपको केवल बुक डेपो में ही मिलती थी. लेकिन अब यही किताबे आपको सड़क पर देखने और ख़रीदने के लिए मिलेंगी. सेकंड हैंड और प्रतिलिपि किताबों का माल बाज़ार में काफी आया है. इन दोस्तों की मांग देखते हुए यह कुछ बाज़ार किताबों से भर गए है.

१. मुंबई

कुछ वर्ष पहले यह सस्ते दोस्त केवल मुंबई के सीएसटी और हाय कोर्ट के बाहर मिलते थे. लेकिन इन किताबों के लिए लोगों का बढता हुवा आकर्षण देख कर अब मुंबई की सड़को पर इनके मेले सजे हुए दिखाई देंगे. वैसे तो हर रेल्वे स्टेशन के बाहर कही यह सस्ती किताबों का स्टॉल लगा मिलेगा. पर सबसे अधिक किताबे आपको चर्चगेट, सीएसटी, बांद्रा, अधेरी, माहिम और दादर में मिलेंगी

mumbai

1 2 3 4 5

Don't Miss! random posts ..