ENG | HINDI

सितम्बर में की घोषणा – जनवरी में दिया मूर्तरूप – मुंबई सेन्ट्रल स्टेशन में शुरू हुआ फ्री WiFi

पिछले साल सितम्बर में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की यात्रा पर गए थे तब गूगल के साथ मिलकर रेलवे स्टेशनों पर wifi सुविधा शुरू करने की योजना बनायी थी.

डिजिटल इंडिया के तहत की गयी इस घोषणा को बहुत से लोगों ने अरविन्द केजरीवाल के झूठे चुनावी वादों की तरह ही समझा.

दिल्ली में चुनाव के दौरान दिल्ली में मुफ्त Wi Fi देने की बात बोलकर आम आदमी पार्टी ने बहुत से युवाओं का समर्थन हासिल किया था. लेकिन आज एक साल होने के बाद भी दिल्ली की जनता को इंतज़ार है wifi मिलने का.

ले देकर राजीव चौक में ये सुविधा मिली वो भी सिर्फ आधे घंटे के लिए.

इसके विपरीत डिजिटल इंडिया के अंतर्गत किया गया वादा सिर्फ चुनावी जुमला नहीं था. मात्र ४ महीनों में इसे मूर्त रूप दिया गया और आज 22 जनवरी से मुंबई सेन्ट्रल रेलवे स्टेशन में मुफ्त इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध करा दी गयी.

digital-india

दिल्ली की तरह इसमें कोई आधे घंटे की समय सीमा नहीं है, ये पूरी तरह मुफ्त सेवा है. मुबई सेन्ट्रल के बाद ये सुविधा 100 अन्य स्टेशनों पर भी शुरू की जाएगी.

भारत सरकार के उपक्रम रेलटेल के साथ मिलकर गूगल ने यह सुविधा शुरू की है. रेलटेल ने पूरे भारत के प्रमुख रेलवे स्टेशनों में ऑप्टिक फाइबर का जाल बिछाने का निर्णय किया है. गूगल इसी ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क का उपयोग कर मुफ्त इन्टरनेट की सुविधा प्रदान करेगी.

अब तक करीब 26000 मील की दुरी में ऑप्टिक फाइबर का जाल बिछाने का निर्णय लिया है, निकट भविष्य में इस 33000 मिल तक फैलाये जाने की योजना है.

सुंदर पिचाई ने गूगल के अधिकारिक ब्लॉग पर लिखा है कि wifi की सुविधा मुफ्त है और धीरे धीरे इसे और भी स्टेशन पर शुरू किया जाएगा. रेलटेल के साथ ही कुछ अन्य कम्पनियों का भी सहयोग लिया जाएगा.

नक़्शे में देखिये सबसे पहले Wifi सुविधा पाने वाले स्टेशन कौनसे है.

digital-india-map

Don't Miss! random posts ..