ENG | HINDI

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जरदारी को मारना चाहते थे नवाज़ शरीफ !

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ – हमेशा से दुनिया की सबसे खतरनाक राजनीति का गवाह कोई रहा है तो वह पाकिस्तान ।

जहाँ सत्ता किसीको पचती नही और सत्ता के लिए कोई किसी को मारने को भी तैयार हो जाता है। और इसी बात को एक बार फिर साबित मिला पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के उस बयान से जिसमें  उन्होंने कहा” कि उन्हें शरीफ भाइयो ने मरवाने की कोशिश की थी “।

जरदारी के अनुसार पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके भाई शहबाज शरीफ ने  उन्हें दो बार मारने की कोशिश की।

90 के दशक में जब  जरदारी भ्रष्टाचार के मामले में जेल में सजा काट रहे थे । उस वक्त शरीफ भाइयों ने मिलकर जरदारी को मारने का प्लान बनाया था। जरदारी के मुताबिक ” शरीफ भाइयो ने जरदारी को सुनवाई के लिए कोर्ट ले जाने के दौरान मरवाने की योजना बनाई थी” जो विफल हो गई । जरदारी ने आठ साल जेल में सजा काटी थी।

लेकिन अब पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान में अगले साल होने वाले चुनाव को लेकर जरदारी की पार्टी का सहयोग चाहती हैं। हालांकि जरदारी की पार्टी पहले भी नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग को अपना समर्थन दे चुकी है। जिस पर जरदारी ने कहा कि ” उन्होंने सब कुछ भुलाकर शरीफ को माफ कर दिया था । लेकिन शरीफ भाइयो ने फिर उन्हें धोखा दिया । और इस बार वो उनका सहयोग नही करेंगे ।  जरदारी के अनुसार ” शरीफ भाई बहुत जल्दी रंग बदलते हैं मुश्किल के वक्त सहयोग मांगते हैं और सत्ता मिलते ही नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं। “

आपको बता दें कि पाकिस्तान की पहली महिला राष्ट्रपति और असीफ जरदारी की पहली  पत्नी बेनजीर भुट्टो की भी हत्या करवाई गई थी। भुट्टो के परिवार को जिस तरह राजनीति के कारण खत्म होना पङा । वो आज भी इतिहास की सबसे दर्दनाक घटना है। जरदारी ने अपने बयान में ये भी कहा कि ” वो कभी नहीं भुलेंगे कि शरीफ भाइयो ने उनके और उनकी पत्नी के साथ क्या किया था।”

हालांकि बेनजीर भुट्टो की हत्या का दोषी पाकिस्तानी के तानाशाह परवेज मुशर्रफ को माना जाता है । परवेज मुशर्रफ  पर बेनजीर के भाई को मरवाने का आरोप भी है। जिस वजह से कई सालों तक मुशर्रफ पाकिस्तान में नही रहे।

जरदारी के इन आरोपो से पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की परेशानियां बढ सकती है। क्योंकि नवाज को पहले ही भ्रष्टाचार में फंसे होने के कारण अपना प्रधानमंत्री का पद छोङना पङा है। नवाज शरीफ एक एकलौते प्रधान मंत्री है जिन्हें तीन बार प्रधान मंत्री बनाया गया । लेकिन तीनो बार कार्यकाल पूरा होने से पहले ही पद से हटा दिया गया। अब लगता है इन आरोपों के बाद नवाज शरीफ का दोबारा कभी प्रधानमंत्री बने का सपना बहुत मुश्किल है।

Don't Miss! random posts ..