ENG | HINDI

मेरी लाइफ तो सेट है.. तूने क्या सोचा?

do-what-you-love-to-do

गर्मी अपने पुरे शबाब पर हैं, सूरज आसमान पर जितनी जल्दी चड़ता है, शाम में उतनी ही देर से उतरता हैं..

गर्मी के साथ-साथ परेशान करने वाली एक और ज़रूरी बात अभी सोहम के लिए ये है कि उसकी आगे की पढ़ाई और करियर का क्या होने वाला हैं??

उसके कुछ दोस्तों में से कई ने अपना सब्जेक्ट तय कर लिया है, और उसकी तयारी में भी लग गए है.

सोहम का एक और दोस्त जो बड़ा बेफिक्र है, क्युकी उसके डैड का बिसनेस उसे ही सम्भालना हैं, उससे परसों ही स्विमिंग पूल पर मिला तो उसने सोहम को बताया था: ” मैं तो कॉमर्स लूँगा.. BBA फिर MBA और डैड का बिसनेस..मेरी लाइफ तो सेट है.. तूने क्या सोचा है”

सोहम अब चुप-चाप कुछ सोच रहा था..

इस तरह की उधेड़बुन अभी केवल सोहम को ही नहीं, बल्कि सोहम की तरह और कई युवाओ को भी है, जो इस वक़्त अपनी ज़िन्दगी के बहुत नाज़ुक और बहुत ही महत्वपूर्ण मोड़ पर हैं, क्युकि यही से उनकी आगे पूरी ज़िन्दगी तय होगी. इस वक़्त लिए गए डिसिशन ही उन सब की जिंदगी को मजबूत बनाने वाले हैं. करियर के लिए उठने वाला उनका हर अगला कदम आगे की दिशा बताने वाला होगा..

लेकिन, उससे पहले ये समझना ज़रूरी है की आपका इंटरेस्ट किसमे हैं??

एजुकेशन और करियर दोनों ही एक-दुसरे से इस तरह जुड़े हुए है जैसे नीव और उस पर बनने वाला मकान.

नीव जितनी मजबूत होगी, मकान उतना ही मजबूत और टिकाऊ होगा.. ठीक उसी तरह एजुकेशन जितनी अच्छी होगी आपका करियर उतना ही स्थिर और मन-चाहा होगा.. बस ज़रूरत है तो अपने उस इंटरेस्ट को पहचानने की और समझने की..

आप अपने बारे में, अपने इंटरेस्ट के बारे में जितनी अच्छी तरह से जानते है उतना और कोई नही जानता.

कई दफे हमे अपने इंटरेस्ट को समझ पाने में तकलीफ होती है पर ये कोई बहुत संजीदा परेशानी नहीं है बल्कि इस तरह की उलझन लगभग हर तीसरे युवा को होती हैं जो काउंसिलिंग की मदद से दूर हो जाती हैं.

काउंसिलिंग के अलावा आज के वक़्त में इन्टरनेट पर ऐसे कई पर्सनालिटी टेस्ट भी होते है जो आप को आपके इंटरेस्ट समझाने में बहुत मददगार साबित होते हैं. इस टेस्ट में आप से पूछे कुछ सवालों के जवाब दीजिये और आपको अपने इंटरेस्ट समझने में आसानी हो जाती है. आप उन सब्जेक्ट को ज्यादा तवज्जु दे जिसे पढ़ने में आप को ख़ुशी मिलती हैं ना की उन्हें जिसे आप के दोस्त चुन रहे हैं.

क्योकि अगर आप का इंटरेस्ट उस सब्जेक्ट में नहीं है तो चाह कर भी आप उसमे अपना 100% नहीं दे पाएंगे.

अपनी पोटेंशिअल को आप से बेहतर और कोई नहीं जान सकता इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए सब्जेक्ट तय करे और उसके मुताबिक आप अपने करियर को आगे बढ़ाये..निश्चित ही आप अपने करियर को वहां ले जा पाएंगे जहाँ उसे ले जाने का आप ख़वाब देख रहे हैं.

कुछ दिनों की उलझन के बाद सोहम खुद के इंटरेस्ट को समझ कर अपने करियर को वो शेप दे पाया जिसके वो ख़्वाब देखता था..

Don't Miss! random posts ..