ENG | HINDI

ऑफिस में काम के बोझ से दबे हैं तो बॉस को यूं पहुंचाएं अपना मैसेज

अगर लगातार काम करने या कई घंटों तक काम करने के बाद भी आपके कामों की लिस्‍ट खत्‍म नहीं होती है तो इसका मतलब है कि आपके पास कुछ ज्‍यादा ही काम है।

ऐसी स्थिति में कोई भी इंसान हर काम को पर्याप्‍त समय और ध्‍यान नहीं दे पाता है। इससे तनाव तो होता ही है साथ ही आपकी परफॉर्मेंस पर भी बुरा असर पड़ता है।

ऐसे में आपको कोई ऐसा तरीका अपनाना चाहिए जिससे आपके बॉस के पास ये मैसेज पहुंच जाए कि आपके पास बहुत काम है।

आज हम आपको ऐसे ही तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जो ऑफिस में आपकी मदद करेंगें।

  • अगर आपके पास बहुत काम रहता है और काम का बोझ आपके ऊपर बढ़ता जा रहा है तो और ज्‍यादा काम के लिए ना कहने की आदत डाल लें। ना कहना एक कला होती है जो हर किसी को आनी चाहिए क्‍योंकि इससे दूसरों की बजाय आपको ही फायदा होता है। आप अपने मैनेजर से कह सकते हैं कि आप अपने अपना काम देखेंगें और उसके बाद ही जवाब देंगें।
  • अपने काम की प्रोग्रेस रिपोर्ट नियमित मैनेजर को देते रहें। इससे मैनेजर को समझ आ जाएगा कि आपके पास बहुत काम है। मैनेजर रिपोर्ट नहीं भी मांगे तो भी समय-समय पर रिव्‍यू सेशन की रिक्‍वेस्‍ट करें और बॉस के साथ मीटिंग तय करें।
  • माना कि आपके पास बहुत काम है लेकिन उससे पहले अपनी प्राथमिकताएं तय करें कि आपको कौन सा काम पहले करना है और किस काम में कितना समय लगेगा। मैनेजर के साथ बैठकर कामों की प्राथमिकता तय करने के लिए बातचीत करें। इससे भी बॉस तक आपका मैसेज पहुंच सकता है।

  • काम का बोझ ज्‍यादा होने पर खुद को संकट में डालने की बजाय आपको कुछ दूसरा पॉजीटिव कदम उठाना चाहिए। समय पर कैसे डिलीवरी देने के लिए दूसरों लोगों के हस्‍तक्षेप और सहयोग के बारे में बॉस से बात करें। इससे आप क्‍वालिटी और कमिटमेंट से समझौता किए बगैर समय पर डिलीवरी दे सकते हैं और अपना संदेश बॉस तक पहुंचा सकते हैं।
  • अगर आप लगातार अच्‍छी परफॉर्मेंस देते आ रहे हैं तो ज्‍यादा काम होने पर अगर आप कुछ कामों के लिए मना भी कर देंगें तो उससे कोई ज्‍यादा फर्क नहीं पड़ेगा। कुछ कामों को आप टाल भी सकते हैं। ये ना सोचें कि इसका बुरा असर पड़ेगा। वर्कलोड को लेकर पारदर्शिता बरतने से आपका काम आसान हो जाएगा और आपको काम करने में भी मज़ा आएगा।

अगर आपके ऊपर काम का बोझ बहुत ज्‍यादा है तो सबसे पहले तो ये समझ लें कि आप कोई मशीन नहीं हैं जो सारा काम अकेले कर लेंगें इसलिए अपने सीनियर्स को ना कहने की आदत डालें और उन्‍हें समय-समय पर अपने वर्कलोड के बारे में बताते रहें। इससे उन्‍हें मालूम होगा कि आप बहाने नहीं बना रहे हैं और वाकई में आपके पास बहुत काम है।

ऊपर बताए गए इन तरीकों से आप बड़ी आसानी से ऑफिस में अपने वर्कलोड को कम कर सकते हैं और यकीन मानिए इससे किसी और को बुरा भी नहीं लगेगा और आपकी इमेज भी खराब नहीं होगी।

Don't Miss! random posts ..