ENG | HINDI

अगर फिल्म इंडस्ट्री में प्रवेश पाना चाहते है तो पहले करने होंगे ये काम !

फिल्म इंडस्ट्री

फिल्म इंडस्ट्री – “फिल्म”- ढाई अक्षर का ये नाम अपने आप में कितने ही लोगों का सपना होता है।

आज के दौर में यह शब्द अपने-आप में सफलता और असफलता दोनों का पर्यायवाची बन चूका है। इंडस्ट्री में हर साल करोड़ों लोग आते हैं, जिनमें से कुछ लोग गवर्नमेंट, डॉक्टर, इंजिनियर, पुलिस इत्यादि की आकर्षक सैलरी वाली नौकरी छोड़ कर इंडस्ट्री की स्ट्रगल से भरी जॉब चुनते हैं। क्योंकि उनका उद्देश्य सबसे हटकर कुछ अलग करने का होता है।

यहाँ काम पाने के लिए अच्छे नॉलेज के साथ अच्छी खासी मेहनत करनी होती है। और फिर भी सफल होने के चांस तो लक के भरोसे होते है।

फिल्म इंडस्ट्री में काम पाने के लिए आम-तौर पर आपके पास दो रास्ते होते हैं-

पहला रास्ता-

इनमें पहला रास्ता है कि अपने फील्ड से रिलेटेड किसी अनुभवी व्यक्ति  को असिस्ट कर लें, ताकि कुछ सालों में आप काम सीख सकें और फिर इसके बाद धीरे-धीरे अपने कैरिएर को आगे बढ़ाते हुए खुद के नाम पर काम लेने लगें। यह एक बेसिक तरीका है। इंडस्ट्री के अधिकतर लोग इसी तरीके से अपना कैरिएर बनाते आये हैं, मुख्य तौर पर टीवी इंडस्ट्री में।

दूसरा रास्ता:

चाहे कोई भी जगह हो शिक्षा बहुत जरूरी होती है।और यह बात यहाँ भी लागू होती है।इंडस्ट्री में अपनी शाख ज़माने के लिए आपके पास दूसरा रास्ता है कि अपने फील्ड जिसे आप पसंद करते हों, उस फील्ड से संवंधित कोर्स करें। इससे आपको अपने फील्ड से रिलेटेड पर्याप्त ज्ञान और टेक्निकल नॉलेज पहले ही मिल जाएगा। जिससे आप तुरंत काम कर सकेंगे।इसके अलावा फिल्म एजुकेशन संवंधित डिग्री आपके लिए प्लस पॉइंट ही साबित होगी।

फिल्म इंडस्ट्री के लिए कोर्सेज की बात की जाए तो यहाँ एक्टर, डायरेक्टर, राइटर, लिरिक्स राइटर, आर्ट डायरेक्टर, कैमरामेन, कॉस्टयूम डिज़ाइनर, एडिटर, ग्राफ़िक डिज़ाइनर,कोरियोग्राफर, मेकअप आर्टिस्ट इत्यादि डिपार्टमेंट होते है। इनमें से हर एक डिपार्टमेंट का अपना एक कोर्स होता है। ये कोर्स अलग-अलग टाइम-पीरियड के हिसाब से होते हैं। जो कैरिएर के मुकाम तक पहुँचने में आपकी कोशिश को एक नया आयाम देते है। और ऐसे ही कोर्स करने के लिए भारत में कई सारे इंस्टिट्यूट खोले गए हैं, जिनमें से कुछ सरकारी और प्राइवेट इंस्टिट्यूट बिभिन्न प्रकार के कोर्स ऑफर कराते है।

भारत में सरकारी फिल्म इंस्टिट्यूट की बात की जाए तो नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा, पुणे फिल्म इंस्टिट्यूट इत्यादि ऐसे सरकारी इंस्टिट्यूट उपलब्ध है, जो दशकों से एक क्वालिटी एजुकेशन देते आ रहे हैं। इन इंस्टिट्यूट से ऐसे बहुत से एक्टर, डायरेक्टर पास आउट होकर निकले है। जिन्होंने फिल्म इंडस्ट्री की बड़ी से बड़ी बुलंदियों को छुआ है, अपना और देश का नाम रोशन किया है।

इसलिए अगर आप भी फिल्म इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं तो अब अपनी जरूरतऔर इंटरेस्ट के हिसाब से एक नया कोर्स चुनने की। क्योंकि हो सकता है कि मेहनत करने से मंजिल मिल जाये लेकिन अगर आप एक अच्छे रास्ते को फॉलो करते हुए मुकाम तक पहुँच रहे हैं तो यह स्मार्टनेस होती है।

Don't Miss! random posts ..