ENG | HINDI

इंटरनेट पर कपिल शर्मा को ढूंढना आपके लिए बन सकता है आफत !

फर्जी वेबसाइट

फर्जी वेबसाइट के लिए – सुरक्षा संबंधी सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी मैकफी का कहना है कि साइबर अपराधी ठगी वाली वेबसाइट्स पर लोगों को आकर्षित करने के लिए मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा के नाम का प्रयोग करते हैं।

मैकफी की वार्षिक सूची में शीर्ष पर भारतीय कॉमेडियन कपिल शर्मा और उनके बाद सलमान खान का नाम दूसरे नंबर है और आमिर खान तीसरे नंबर पर हैं।

मैकफी का कहना है कि साइबर अपराधी लोगों को फर्जी वेबसाइट तक लाने के लिए सिलेब्रिटीज़ के नाम का इस्‍तेमाल करते हैं। इन वेबसाइटों का प्रयोग वायरस डालने या लोगों की निजी जानकारी को चुराने के लिए किया जाता है। मैकफी ने अपनी 11वीं रिपोर्ट में कहा है कि इंटरनेट पर कपिल शर्मा को ढूंढते हुए ऐसी फर्जी वेबसाइट्स पर पहुंचने का खतरा 9.58 फीसदी होता है।

सलमान खान और आमिर खान को ढूंढते हुए ऐसी फर्जी वेबसाइट / वेबसाइट्स पर पहुंचने वालों की संख्‍या 9.03 और 8.89 फीसदी है। इस लिस्‍ट में प्रियंका चोपड़ा, अनुष्‍का शर्मा, सनी लियोनी, कंगना रनौत, रणवीर सिंह, शाहिद कपूर और टाइगर श्रॉफ का नाम भी शामिल है।

मैकफी के आर एंड डी संचालन के प्रमुख वेंकट कृष्‍णपुर ने बताया कि अब डिजीटल वर्ल्‍ड के कारण सिलेब्रिटीज़ और उनके फैंस के बीच की दूरी घट गई है। अब भारतीय लोग अपने फेवरेट सिलेब्रिटीज़ के बारे में ज्‍यादा जानने के इच्‍छुक दिखाई देते हैं।

साइबर अपराधी इसी बात का फायदा उठा रहे हैं और जब लोग सुविधा के कारण सुरक्षा से समझौता करते हैं तो ये फर्जी वेबसाइट्स उन्‍हें अपना शिकार बना लेती हैं।

इस तरह अगर आप इंटरनेट पर अपने फेवरेट किसी भी सिलेब या कपिल शर्मा को सर्च करते हैं तो आपके फर्जी वेबसाइट पर जाने का खतरा सबसे ज्‍यादा रहता है।

ऐसे में आपके कंप्‍यूटर में वायरस आ सकता है आपकी निजी जानकारी लीक भी हो सकती है।

Don't Miss! random posts ..