ENG | HINDI

सोने खरीदने और बेचने वालों पर आसमान से रखी जा रही है नजर! लो लग गयी वाट !

सोने के ऊपर निगाह

500 और 1000 के नोट जैसे ही बंद हुए थे तभी अचानक से लोगों ने सोना खरीदना शुरू कर दिया था.

पैसा इतना था कि बैंक लेकर जाते तो पकड़े गये होते इसलिए कालेधन को रखने वालों ने सोना खरीदना शुरू कर दिया था.

8 नवम्बर को रात को कई जगह सोने की दुकाने रात 4 बजे तक खुली हुई थीं. ऐसा लग रहा था कि जैसे सोना खरीदकर लोगों को अच्छी नींद आ जाएगी, लेकिन आपको बता दें कि सरकार ने आपकी नींद हराम करने का प्लान बना लिया है.

सरकार ने एजेंसियों को पहले ही सूचित कर दिया था कि कालेधन को ठिकाने लगाने के लिए सोना खरीदने की होड़ लग जाएगी इसलिए सोने की दुकानों पर आसमान से निगाह रखी जा रही थी.

आइये आपको बता देते हैं कि किस तरह से आपके सोने के ऊपर निगाह रखी जा रही है-

सोने के ऊपर निगाह कैसे –

सेटेलाइट से नजर है सोने की दुकानों पर –

सोने के ऊपर निगाह

लोगों के पास भारी मात्रा में पैसा था और 8 नवम्बर की रात को ही पैसे को सोने में बदलने का काम किया जा रहा था. मोटे पैसे वाले लोग समझ रहे थे कि जैसे सरकार को इस बात की खबर भी नहीं लगेगी और हमारा पैसा सोने में तब्दील हो जायेगा. लेकिन आपको हैरानी होगी की सभी मुख्य सोने की दुकानों की सूची पहले ही बना ली गयी थी. दुकानों के ऊपर सेटेलाइट से निगाह रखी जा रही थी. सूत्रों से प्राप्त हो रही खबरों से पता चल रहा है कि 8 नवम्बर से आज तक देश की कई मुख्य सोने की दुकानों पर सेटेलाइट निगाह बनाये हुए है. जो लोग बैग भरकर पैसा लाये थे और उसके बाद बैग में सोना जहाँ भी लेकर गये हैं उनके ठिकानों पर निशान लगा दिया गया है.

भारत इस समय सेटेलाइट की दुनिया में काफी तरक्की कर चुका है. गली-गली और घर-घर की तस्वीरें आपको सेटेलाइट से प्राप्त हो सकती है. इस बार सरकारी एजेंसियों ने कमाल का काम किया है और जो लोग 10 लाख रुपैय देकर 5 लाख का सोना ले गये हैं उनकी खबर सरकार अब लेने वाली है.

अब जाँच होगी सोने के दुकानों के सीसीटीवी कैमरों की –

सोने के ऊपर निगाह

जिन सोने की दुकानों पर काफी भीड़ 8 नवम्बर से 12 नवम्बर तक रही है उन दुकानों को सेटेलाइट ने चिन्हित कर लिया है. अब इन दुकानों के सीसीटीवी फुटेज चैक किये जायेंगे और अगर कैमरों में जरा सी भी गड़बड़ी पाई जाती है तो इन दुकानदारों का सारा पैसा ही जमा कर लिया जायेगा. अभी तक लोगों को लग रहा था जैसे कि भारत अभी भी 1948 का भारत है. जबकि इस बार प्रधानमंत्री मोदी ने पूरी तरह से काले लोगों को मजा चखाने के लिए कमर कस ली है. सेटेलाइट अपना काम कर रहे थे और आज भी कर रहे हैं. किस घर में क्या हलचल हो रही है इसका हिसाब आसमान से रखा जा रहा था.

लोगों के फोन भी हुए हैं ट्रेस –

इसके अलावा 500 और 1000 के नोट बंद करते ही एजेंसियों ने देशभर के मोबाइल्स और फोनपर भी नजर रखी थी. सूत्रों के अनुसार जो लोग घबराए हुए थे उन्होंने बड़ी गलती यही की है कि वह मोबाइल्स पर अपने पैसों की बात करते हुए पाए गये हैं. सरकार के अंदरूनी सूत्रों से प्राप्त हुई खबरों के अनुसार सरकार ने फोन काल्स का भी डाटा बना लिया है. कालेधन वाले लोगों पर जल्द ही बड़ी कार्यवाही होनी शुरू होने वाली है.

इस तरह से सरकार ने आपके सोने के ऊपर निगाह राखी थी.  इस तरह से जिन लोगों ने ब्लैकमनी के दम पर सोना खरीदा है या हीरे ज्वारात खरीदकर वह खुद को सुरक्षित समझ रहे हैं तो वह भी जान लें कि इस बार उनके ऊपर आसमान से नजर रखी गयी थी. अब जल्द ही उनका काला चिट्ठा खुलना शुरू होने वाला है.

Don't Miss! random posts ..