ENG | HINDI

अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से होते हैं ये 10 नुकसान !

अधिक मात्रा में ग्रीन टी

ग्रीन टी में कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं. ग्रीन टी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल बढ़ते मोटापे को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है.

ग्रीन टी पीनेवाले लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी ग्रीन टी अच्छा माना जाता है.

कुल मिलाकर देखा जाए तो ग्रीन टी पीने के कई फायदे हैं, लेकिन ये सभी फायदे संतुलित मात्रा में इसका सेवन करने पर ही मिल सकते हैं. अधिक मात्रा में ग्रीन टी कई लोगों की सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकती है.

अगर आप रोज अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने के आदी हैं तो फिर ज़रूरी है कि आप इससे होनेवाले नुकसान के बारे में भी जान लें.

green-tea

अधिक मात्रा में ग्रीन टी नुकशान देह साबित हो सकती है –

1 – भूख हो जाती है कम

ग्रीन टी का अधि‍क सेवन करना आपकी भूख को कम कर सकता है. भूख नही लगने की वजह से आप सही आहार नहीं ले पाते हैं जिससे आपके शरीर को जरूरी मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाते है और इस तरह से आपका शरीर कमजोर हो सकता है.

2 – थकावट और चिड़चिड़ापन

ग्रीन टी पीने वालों को जब इसकी तलब लग जाती है तब अगर उन्हें ग्रीन टी नहीं मिला तो उनका मन चिड़चिड़ा हो जाता है और शरीर में थकावट भी महसूस होने लगती है.

3 – स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

वैसे तो ग्रीन टी में कैफीन की मात्रा कॉफी की अपेक्षा बहुत कम होती है, लेकिन दिनभर में ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन से आप पेट की समस्या, अनिद्रा, उल्टी, दस्त एवं अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के शि‍कार हो सकते हैं.

4 – बच्चों के लिए नुकसानदेह  

ग्रीन टी का सेवन करना छोटे बच्चों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है. यह बच्चों की बढ़ती उम्र को प्रभावित करने के साथ ही उनकी सेहत को हानि पहुंचाता है.

5 – गर्भवती महिलाओं के लिए घातक

गर्भावस्था में या फिर बच्चे की डिलेवरी के बाद ग्रीन टी का अधिक मात्रा में सेवन करना फायदा पहुंचाने के बजाय काफी नुकसान पहुंचा सकता है.

इसके ज्यादा सेवन से गर्भपात की संभावनाएं बढ़ सकती हैं. बच्चे के वजन में कमी के साथ प्री मैच्योर डिलेवरी की नौबत भी आ सकती है.

6 – आयरन की हो सकती है कमी

ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करने से आपके शरीर में लौह तत्व यानि आयरन की कमी हो सकती है. दरअसल ग्रीन टी में मौजूद टैनिन शरीर में आयरन की कमी का कारण भी बन सकता है.

7 – एसिडिटी की शिकायत

सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीने से एसिडिटी की शिकायत हो सकती है. इसके बजाय सुबह खाली पेट एक ग्लास गुनगुना सौंफ का पानी पीने की आदत डालें. इससे पाचन सुधरेगा और शरीर के अपशिष्ट पदार्थ बाहर निकालने में मदद मिलेगी.

8 – पाचन क्रिया होती है प्रभावित

जल्दी वज़न घटाने की लालच में अक्सर लोग खाना खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीते हैं जिसकी वजह से उनकी पाचन क्रिया प्रभावित हो सकती है.

9 – टेस्टोस्टेरॉन की कमी

एक शोध के अनुसार अधि‍क मात्रा में ग्रीन टी का सेवन शरीर में टेस्टोस्टेरॉन के स्तर को कम करता है. इस शोध में यह बात भी सामने आई है कि  ग्रीन टी का सेवन कम करने से या इसकी मात्रा में कमी आने से टेस्टोस्टेरॉन का स्तर सामान्य होने में मदद मिलती है.

10 – गुर्दे की पथरी

ग्रीन टी में पाया जाने वाला ऑक्जेलिक एसिड गुर्दे में पथरी बनने का कारण हो सकता है. इसके अलावा इसमें कैल्शि‍यम, यूरिक एसिड, अमीनो एसिड और फास्फेट भी पाया जाता है जो ऑक्जेलिक एसिड के साथ मिलकर गुर्दे की पथरी के लिए जिम्मेदार होते हैं.

इस तरह से अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से नुकशान भी होते है. बहरहाल अगर आप चाहते हैं कि ग्रीन टी पीने की वजह से आपकों इनमें से किसी भी समस्या का शिकार न होना पड़े तो इसके लिए ज़रूरी है कि दिनभर में आप 2-3 कप से ज्यादा ग्रीन टी का सेवन न करें.

Don't Miss! random posts ..