ENG | HINDI

श्रीराम के अनुसार जो पराई स्त्री पर बुरी नज़र रखता है उसे मिलती है ऐसी सजा!

पराई स्त्री पर बुरी नज़र

पराई स्त्री पर बुरी नज़र – हमारे धर्मग्रंथो और पुराणों में ऐसी कई बातें बताई गई है जो आज के समय में भी चरितार्थ होती है।

आज हम आपको ऐसी ही एक कहानी बताने जा रहे है जिसमें किसी पराई स्त्री पर बुरी नज़र रखने के परिणामों के बारे में बताया गया है।

तो आइये जानते है पराई स्त्री पर बुरी नज़र डालने से क्या होता है –

पराई स्त्री पर बुरी नज़र –

रामायण में बालि के बारे में बताया गया है, कहा जाता है कि बालि में इतना बल था कि उसे युद्ध में हराना नामुमकिन था। उसने रावण जैसे योद्धा को भी बुरी तरह हरा दिया था। बालि को कभी भी आमने-सामने की लड़ाई में हराया नहीं जा सकता था क्योंकि उसे ऐसा वरदान था।

लेकिन भगवान राम ने उसे छिपकर तीर मारा था और तीर लगते ही वो जमीन पर गिर गया था।

तीर मारने के बाद भगवान राम बालि के पास पहुँचे बालि ने भगवान राम को कहा कि आप धर्म की रक्षा करते है तो फिर आपने मुझे इस प्रकार क्यों मारा। इस सवाल के जबाव में श्रीराम ने कहा “अनुज बधु भगिनी सूत नारी, सुनु सठ कन्या सम ए चारी। इन्हहि कुदृष्टि बिलोकई जोई, ताहि बंधे कछु पाप न होई।।“

इसका अर्थ होता है किसी के भी छोटे भाई की पत्नी, बहन, पुत्र की पत्नी और पुत्री ये सब सामान होती है।

जो कोई भी इन पर बुरी नज़र डालता है अगर ऐसे लोगों को मारा जाता है तो उसमें कोई बुराई नहीं है। भगवान राम ने आगे कहा कि बालि तूने अपने भाई सुग्रीव की पत्नी पर बुरी नज़र रखी और सुग्रीव को मारना चाहा। यही कारण था कि तुझे बाण मारा गया। श्रीराम का ये जबाव सुनकर बालि शांत हो गया और अपने पापों की क्षमा याचना करते हुए उसने प्राण त्याग दिए।

इसी प्रकार किसी पराई स्त्री पर बुरी नज़र रखने वाले का अंत में परिणाम यही होता है।

Don't Miss! random posts ..