ENG | HINDI

अगर ये ड्रिंक अपने बच्चों को पिलाया तो बच्चे हो जाएंगे नशेड़ी

एनर्जी ड्रिंक

एनर्जी ड्रिंक – आपके साथ बाज़ार जाते ही बच्चे अपनी पसंद का सामान मांगना शुरू कर देते हैं.

आप उनकी जिद्द को पूरा भी करते हैं. आपको ये लगता है कि अगर आप उन्हें नहीं दिलाएंगे तो बच्चे जिद्द करेंगे, जिससे आपका समय बर्बाद होगा और लोगों के बीच में आपका मज़ाक उड़ेगा की कैसा बच्चा है.

बच्चे की हर जिद्द में शामिल है ड्रिंक्स. बच्चे कुछ खाएं या न खाएं, वो सॉफ्ट ड्रिंक और एनर्जी ड्रिंक ज़रूर पीते हैं. आपको भी लगता है कि इसमें बुराई ही क्या है. एनर्जी ड्रिंक पीने से बच्चे को एनर्जी मिलेगी ये तो अच्छी बात है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि यही ड्रिंक आपके बच्चे को धीरे धीरे नशेड़ी बना रहा है. जी हाँ, हाल ही में एक रिसर्च में ये बात सामने आई है. एनर्जी ड्रिंक बनाने वाली कंपनियों को पैसा चाहिए. जितना उनका सामान बिकेगा उनको उतना ही फायदा होगा, ये फायदा उनको आपके हेल्थ रिस्क पर मिल रहा है. आप इन चीज़ों को खरीदते हैं और पैसे खर्च करते हैं साथ में बीमारियों का टोकरा घर लाते हैं.

न्यूयॉर्क में हुए एक रिसर्च में ये बात साबित हुई है कि बहुत से एनर्जी ड्रिंक में कैफीन मिला होता है. ये आपको इंस्टेंट एनर्जी तो देता है लेकिन आपकी बॉडी को कैफीन की आदत हो जाती है. जैसे जैसे बच्चे बड़े होते हैं, उन्हें इसकी आदत कुछ इस तरह से होती जाती है कि वो नशीली चीज़ों का सेवन करना शुरू कर देते हैं. बिना उसके वो रह नहीं पाते. उनके ब्लड को इसकी आदत सी हो जाती है. इतना ही नहीं इससे उन्हें ड्रग्स लेने तक की आदत हो जाती है. आप खुद भी उन्हें ऐसे समय में रोक नहीं पाएंगे.

रिसर्च में ये बात सामने आई कि कुछ देश के लोगों में इसकी आदत बढती ही जा रही है. उनमें से भारत एक है. भारत में कई कम्पनियां इस ड्रिंक को बेच रही हैं. भारतीय लोग घूमते, पढ़ते आदि समय इसका सेवन कर रहे हैं और अपने भविष्य को अन्धकार में डाल रहे हैं.

अब से हो जाएं आप सावधान और अपने नन्हें मुन्नों को एनर्जी ड्रिंक पिलाना बंद कर दें. उनकी सेहत का ख्याल रखें.

Don't Miss! random posts ..