ENG | HINDI

फोटो क्‍लिक की तो पलट दी हाथी ने कार, जानिए आगे क्‍या हुआ

जानवर का गुस्सा

जानवर का गुस्सा – दुनिया में हाथी एक ऐसा विशाल जानवर है जिसे देखकर किसी को भी प्‍यार और ममता आ जाए।

हाथी को भगवान गणेश का स्‍वरूप माना जाता है और कई जगहों पर तो इनकी पूजा भी होती है। बच्‍चों के सबसे पसंदीदा जानवर के रूप में भी हाथी को ही जाना जाता है। उन्‍हें हाथी की सवारी करने में बहुत मज़ा आता है।

ज़रा सोचिए अगर इतना विशाल जानवर गुस्‍से में आ जाए तो आपका क्‍या हाल कर सकता है। हाल ही में कुछ ऐसा हुआ है कि जिसमें हाथी को इतना गुस्‍सा आ गया कि उसने उटपटांग हरकत कर दी।

आइए जानते हैं जानवर का गुस्सा और इस किस्‍से के बारे में..

साउथ अफ्रीका का है मामला

जानवर का गुस्सा

साउथ अफ्रीका के सफारी पार्क में एक हाथी को बहुत ज्‍यादा गुस्‍सा आ गया। यहां पर यूरोप और जापान के पर्यटक जंगल में जानवरों को देखने निकले थे। इस दौरान सभी पर्यटक जानवरों की नैचुकल फोटोज़ लेने में बिजी थे। उस समय एक हाथी वहीं थोड़ी दूरी पर गुजर रहा था। उसे देखकर गाड़ी में बैठे टूरिस्‍ट फोटो क्‍लिक करने लगे और ये सब देखकर हाथी को गुस्‍सा आ गया और वह गुस्‍से में गाड़ी की ओर दौड़ते हुए आया। उसने गुस्‍से में गाड़ी को लात मारी और इस वजह से गाड़ी छत और एक तरफ से पैसेंजर सीट टूट गई। हाथी को आक्रामक होते देख ड्राइवर ने अपनी सूझबूझ से गाड़ी को दूर ले गया और इस तरह सभी टूरिस्‍टों की जान बच गई।

आमतौर पर तो जानवर किसी को कभी भी कोई नुकसान नहीं पहुंचाते हैं और ना ही परेशान करते हैं लेकिन अगर उन्‍हें छेड़ा जाए या परेशान किया जाए उनके जीवन में किसी भी तरह का दखल दिया जाए तो वो आक्रामकता पर उतर आते हैं। सफारी पार्क में जाने पर भी ये निर्देश दिए जाते हैं कि किसी भी तरह का शोर या आवाज़ करके जानवरों को परेशान ना करें लेकिन अगर आप ऐसा करते हैं तो जानवर आपके ऊपर हमला बोल सकते हैं।

जानवर का गुस्सा

मनुष्‍य के मूर्खतापूर्ण व्‍यवहार और हरकतों की वजह से ही जानवर आक्रामक होते जा रहे हैं जोकि खुद इंसानों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में भी आए दिन जंगली जानवर इंसानों और पालतू जानवरों पर हमला बोल देते हैं और अब जानवरों का आक्रामक होना चिंता का विषय बन गया है।

ऐसा कहा जा सकता है कि जंगली जानवरों के आक्रामक होने का बदला हम उन्‍हें मारकर ले रहे हैं। शायद हम इंसानों को ये लगने लगा है कि जानवरों को खत्‍म करने से हमारी समस्‍या का अंत हो जाएगा लेकिन असल में ये कोई हल नहीं है। हम कभी ये सोचने की कोशिश नहीं करते कि जिस तरह हमारे घर में कोई अनजान शख्‍स घुस आता है और हमारी जिंदगी में दखल देने लगता है या हमें परेशान करता है तो जैसे हम गुस्‍सा करते हैं या आक्रामक हो जाते हैं वैसे ही जानवरों को भी आपके हस्‍तक्षेप से गुस्‍सा आता है।

ये है जानवर का गुस्सा – अब अगली बार जब भी आप सफारी पार्क घूमने जाएं तो इस बात का खास ख्‍याल रखें कि वहां जानवरों को परेशान ना करें वरना आपकी जान पर भी बन सकती है.

Don't Miss! random posts ..