ENG | HINDI

आज तक भारत में इस शख्स से ज़्यादा कोई नही पढ़ पाया !

डॉ. श्रीकांत जिचकर

डॉ. श्रीकांत जिचकर – भारत एक ऐसा देश है जहां पढाई को अव्‍वल दर्जा दिया जाता है. भारत में माना जाता है कि अगर आप शिक्षा में सफल हो गए तो समझिए आप जिंदगी में सफ़ल हो गए.

इसी कारण हमारे देश के युवाओं के पास पढ़ाई की कई डिग्रिया हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत में आजतक सबसे ज्यादा कौन पढा है?

अगर नहीं तो आइए आपको उनसे रूबरू करवाते हैं –

इस व्यक्ति के पास अनगिनत डिग्रियों के अलावा कई मैडल भी हैं और इनकी खुद कीलाइब्रेरी में 52 हजार किताबें भी थीं.

दरअसल, यह व्यक्ति और कोई नहीं बल्कि कांग्रेस नेता डॉ. श्रीकांत जिचकर हैं. इनका नाम भारत के सबसे योग्य व्यक्ति के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज है. डॉ. श्रीकांत जिचकर ना केवल पढाई में अव्‍वल थे बल्कि उन्हें पेंटिंग, प्रोफेशनल फ़ोटोग्रेफी और एक्टिंग भी आती थी.

डॉ. श्रीकांत जिचकर

डॉ. श्रीकांत जिचकर का जन्म सन् 1954 में नागपुर के नजदीक हुआ था. उन्हें भारत में अबतक का सबसे शिक्षित व्यक्ति माना जाता है.माना जाता है कि डॉ. श्रीकांत जिचकर ने सबसे पहले एमबीबीएस की डिग्री ली थी और उसके बाद उन्होंने कई शोध भी किए. वो विज्ञान के साथ-साथ राजनीति, थिएटर और जर्नलिज्म में भी शोध किया करते थे.

एमबीबीएस की डिग्री लेने के बाद उन्होंने कानून की पढाई कीऔर एलएलबी के साथ-साथ एलएलएम की पढाई भी की. इसके बाद उन्होंने एमबीए की डिग्री प्राप्त की और जर्नलिज्म की भी डिग्री ली. साल 1980 में उन्होंने अपनी सभी नौकरियों से इस्तीफा दे दिया और राजनीति में कदम रखा.

डॉ. श्रीकांत जिचकर एक वरिष्ठ नेता थे जिन्होंने कंग्रेस की 80 और 90 के दशक में बहुत मदद की. काफी लंबे समय तक कांग्रेस पार्टी का साथ देने के बाद, डॉ. श्रीकांत जिचकर ने 2 जून 2004 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया था.

Don't Miss! random posts ..