ENG | HINDI

सिर्फ 20 दिन की शादी में 19 साल लग गए तलाक लेने में !

तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला

तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला – हाल ही में शादी से जुड़ा एक अजीब किस्‍सा सुनने में आया है।

खबर है कि एक पति-पत्‍नी को अपनी 20 दिन की शादी तोड़ने में 19 साल का समय लग गया। पति तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला की शादी 19 साल पहले 1998 में हुई थी।

परंपरा  के अनुसार मंदिरों के दर्शन किए बिना तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला शारीरिक संबंध नहीं बना सकते थे इसलिए शादी के कुछ दिनों बाद ये जोड़ा मंदिरों के दर्शन के लिए निकला था। दर्शन करते समय उन्हें दिल्ली पुलिस ने पकड लिया। सुभाषिनी पर पैसों की हेराफेरी का इलजाम था। इसके बाद पुलिस उन दोनों को दिल्ली आई। यहां ना केवल सुभाषिनी से पूछताछ हुई बल्कि रामकृष्णन से भी कई सवाल पूछे गए।

इस वाक्ये के बाद ही रामकुष्ण ने अपनी पत्नी से तलाक के लिए केस फाइल कर दिया। सुभाषिनी की वजह से पुलिस रामकृष्णन से भी बार-बार सवाल करने घर आ जाती थी जिससे उनकी समाज में काफी बदनामी हो रही थी। इस वजह से रामकृष्‍णन ने सुभाषिनी से तलाक की अर्जी डाल दी। रामकृष्णन ने अपनी पत्नी पर ये इलजाम भी लगाया कि उसने शादी से पहले उनसे काफी बातें छिपाई थीं। 

जबकि सुभाषिनी की मानें तो उन्हें फसाया जा रहा है। सुभाषिनी ने कोर्ट में अपने पति पर आरोप लगाया कि उनके पति ने उनके साथ मंदिर के दर्शन करने से पहले ही शारीरिक सम्बंध बनाए थे जिसके कारण वह प्रेग्‍नेंट भी हो गई थी।

ये केस इंडियन जुडिशियल कोर्ट में 19 साल तक चला था।

इस केस को देखकर भारतीय न्‍यास व्‍यवस्‍था और उसकी बदहाली का अंदाज़ा लगाया जा सकता है।

अगर इन दोनों को समय पर ही तलाक मिल गया होता तो तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला अपनी जिंदगी एक नए सिरे से शुरु कर किसी और से भी शादी कर सकते थे।

लेकिन भारतीय न्‍याय व्‍यवस्‍था ने तिरुमूर्ति रामकृष्णन और सुभाषिनी बाला की जिंदगी ही बर्बाद कर दी।

Don't Miss! random posts ..