ENG | HINDI

क्या फ़र्क़ है ऑन-कैंपस एजुकेशन और ऑनलाइन एजुकेशन में! जानिये और फ़ैसला कीजिये!

on campus education vs online education

एक वक़्त था जब घर छोड़ के जंगलों में गुरुकल में पढ़ाई हुआ करती थी|

वहाँ से बहुत दूर आ चुके हैं हम और अब टेक्नोलॉजी ने हमें घर बैठे ही पढ़ाई करने का मौका दे दिया है|

ऑनलाइन एजुकेशन धीरे-धीरे सबके दिलों में अपनी जगह बनाती जा रही है लेकिन क्या यह ऑन-कैंपस एजुकेशन के मुक़ाबले बेहतर है या ख़राब?

आईये ऑन-कैंपस एजुकेशन और ऑनलाइन एजुकेशन के बीच का फ़र्क:

ऑनकैंपस एजुकेशन

ये परंपरागत तरीका है एजुकेशन पाने का जिस में आप एक ही कॉलेज में और भी दूसरे छात्रों के साथ एक ही समय में साथ-साथ पढ़ाई करते हैं|

फ़ायदे

टीचर्ज़ के अलावा क्लासमेट्स से भी सीखने को बहुत कुछ मिलता है

टाइम-टेबल के अनुसार पढ़ाई होती है और एग्ज़ाम्स भी

एक सम्पूर्ण व्यक्तित्व का निर्माण होता है

नुक्सान

अगर साथ में काम कर रहे हैं तो वक़्त निकालना मुश्किल है

अगर सीखने की स्पीड कम है तो क्लास में सब समझ नहीं आएगा और अगर तेज़ हैं तो बोरियत होने लगेगी

कॉलेज आने-जाने में वक़्त और पैसा दोनों खर्च होता है

पढ़ाई के अलावा घूमने-फिरने और दोस्ती-यारी निभाने में वक़्त की बर्बादी होती है और सही ज्ञान मिलने की गारंटी कम हो जाती है!

ऑनलाइन एजुकेशन

इस तरह की पढ़ाई आप इंटरनेट की मदद से घर बैठे ही कर सकते हैं| ज़रुरत है तो सिर्फ़ लैपटॉप या कंप्यूटर की और एक फ़ास्ट चलने वाले इंटरनेट कनेक्शन की!

फ़ायदे

चाहे पार्ट टाइम में कीजिये या फुल टाइम में, बस अपनी सुविधानुसार कहीं भी, कभी भी पढ़ाई कर सकते हैं

अगर सीखने की स्पीड कम है तो एक ही लेक्चर को बार-बार देखिये, समझ आने पर ही अगले लेक्चर की तरफ बढ़िए

न सिर्फ़ लेक्चर्स मिलते हैं इंटरनेट पर, बल्कि प्रोफेसर से बात भी कर सकते हैं चैट पर या वेबकेम पर और अपनी सभी मुश्किलों का निदान घर बैठे ही पा सकते हैं.

समय का अच्छा इस्तेमाल कर सकते हैं अगर कहीं नौकरी कर रहे हैं या दो-तीन कोर्स और भी चल रहे हैं साथ में तो!

नुक्सान

कुछ कोर्सेस के लिए कॉलेज की ज़रुरत पढ़ती ही है जैसे कि इंजीनियरिंग, मेडिकल, कंप्यूटर साइंस वगैरह जो ऑनलइन एजुकेशन आपको नहीं दे सकती

पढ़ाई तो आप कर लेंगे लेकिन कोई चीज़ आपकी समझ में नहीं आई या कोई फ़ीडबैक चाहिए तो प्रोफेसर से उसी वक़्त नहीं पूछ सकते बल्कि वक़्त अलग से निकलना पड़ता है जब आप और वो दोनों एक ही वक़्त पर ऑनलाइन हों

अगर आप ख़ुद को मोटीवेट नहीं कर सकते तो कुछ ही दिनों में ऑनलाइन एजुकेशन से बोर हो जाएंगे

अगर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल ठीक से नहीं आता तो ऑनलाइन एजुकेशन से आप वो सब नहीं सीख सकते जिसके लिए आप कोर्स कर रहे हैं

जो डिग्री मिली उसकी वास्तविक जीवन में क्या वैल्यू है, इसका पता नहीं लगाया तो वक़्त और पैसे दोनों की बर्बादी निश्चित है!

दोनों ही तरह की पढ़ाई आपके जीवन में फ़ायदा पहुँचा सकती है अगर ध्यान दें| कोई एक से बेहतर भी नहीं और ख़राब भी नहीं| सब निर्भर करता है आपकी ज़रुरत पर और आपके सीखने के नज़रिये पर!

कोई भी फ़ैसला लेने से पहले ठीक से जांच लें और फिर लग जाइए पढ़ाई में!

Don't Miss! random posts ..