ENG | HINDI

दिल्ली में वायु प्रदूषण “बेहद खराब” स्तर पर पहुंचा- CPCB

दिल्ली का वायु प्रदूषण

दिल्ली का वायु प्रदूषण – ठंड के शुरुआती दिनों में दिल्ली में प्रदूषण होना आम बात है।

पिछले कुछ सालों से अक्टूबर के अंतिम सप्ताह और नवंबर के पहले सप्ताह में दिल्ली में वायु प्रदूषण बहुत ही खराब होता है। इस साल भी यही हाल है। इन दिनों में पड़ोसी राज्य में पराली जलाने की वजह से दिल्ली का वायु प्रदूषण बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। लेकिन इस बार हालत खराब है। इस बार दिल्ली का वायु प्रदूषण “बेहद खराब” स्तर पर पहुंच गया है।

दिल्ली का वायु प्रदूषण

क्या है “बेहद खराब” स्तर?

दिल्ली को “बेहद खराब” स्तर पर सीपीसीबी ने दिया है।

सीपीसीबी- Central Pollution Control Board

सीपीसीबी पूरे दिल्ली के प्रदूषण पर नजर रखता है। इस प्रदूषण के थोड़े से भी खराब स्तर पर जाने से वह एलर्ट जारी करता है। इस बार यह

स्तर “बेहद खराब” स्तर पर पहुंच गया है।

दिल्ली का वायु प्रदूषण

बुधवार से है यह स्तर

स सप्ताह के शुरुआत से प्रदूषण काफी लोगों को परेशान किया था। हर साल की तरह लोगों ने सुबह की वॉक में जाना बंद कर दिया था। सोमवार और मंगलवार को प्रदूषण का स्तर खराब था।

लेकिन बुधवार को प्रदूषण को स्तर “बेहद खराब” स्तर पर पहुंच गया। जिसके कारण भलस्वा कचरा ढलान स्थल पर आग बुझाया गया है। लेकिन इसका असर शुक्रवार तक रहा और “बेहद खराब” स्तर पर ही प्रदूषण का स्तर बना हुआ है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने सुबह 11 बजे तक समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 312 मापा है जो कि एक “बेहद खराब” स्तर है।

दिल्ली का वायु प्रदूषण

क्या है एक्यूआई का स्तर?

एक्यूआई का स्तर प्रदूषण मापने के लिए यूज़ किया जाता है। ये रहा एक्यूआई का स्तर इंडेक्स-
अगर एक्यूआई का स्तर 0 से 50 के बीच ‘अच्छा’ माना जाता है।
51 से 100 के बीच यह ‘संतोषजनक’ स्तर पर होता है।
201 से 300 के बीच का एक्यूआई ‘खराब’ माना जाता है।
301 से 400 के बीच के आंकड़े को ‘बेहद खराब’ कहा जाता है।
एक्यूआई 401 से 500 के बीच आ जाता है तो इसे ‘गंभीर’ कहा जाता है।

अभी है एक्यूआई 312

बुधवार को सीपीसीबी द्वारा नापा गया दिल्ली का प्रदूषण स्तर एक्यूआई 312 है जो कि ‘बेहद खराब’ वाले इंडेक्स में आता है।

दिल्ली का वायु प्रदूषण

आग जलाने के कारण हुई यह हालत

प्रदूषण का स्तर इस हद तक खराब होने का कारण भलस्वा कचरा ढलान में लगाई गई आग है। वह अलग बात है कि इस आग को बुझाया जा रहा है। दिल्ली के दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि कचरा ढलान स्थल पर आग बुझाने का काम जारी है। उन्होंने कहा, ‘कचरा ढलान स्थल से मीथेन गैस के लगातार रिसाव के कारण आग बढ़ रही है। दमकल विभाग की दो गाड़ियां अभी मौके पर तैनात हैं।’
यह आग 20 अक्तूबर से लगी है।

आगे से अपने पड़ोस में आग लगाने से पहले आप भी एक बार सोच लें। क्योंकि एक छोटी सी आग प्रदूषण के स्तर को कई गुना बढ़ा सकता है और इसे गंभीर स्थिति में पहुंचा सकता है। इसलिए सावधानी बरतें और अपने आसपास की वायु को स्वच्छ रखेँ।

Don't Miss! random posts ..