ENG | HINDI

मरने के 11 दिन बाद भी कब्र से ज़िंदा आयी लड़की !

मरने के बाद जिंदा

मरने के बाद जिंदा – दुनिया में ऐसी अजब-गज़ब खबरें होती रहती हैं कि क्या बातें.

हमारे यहाँ भी कई बार ऐसा हुआ है जब मरने के बाद भी लोग जिंदा हो जाते हैं. इतना ही नहीं मरने के बाद जिंदा होने के बाद तब की कहानी सुनाते हैं.कोई स्वर्ग तो कोई नरक की बात बताता है. भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मरने के बाद लोगों के जिंदा बचने की खबरें आती रही हैं.

आज हम आपको एक ऐसी खबर बताने जा रहे हैं जहाँ की लड़की मरने के ११ दिन बाद भी जीवित रही- मरने के बाद जिंदा रही.

ये सुनकर आप हैरान जरूर हो सकते हैं, लेकिन ये खबर सच है. बिलकुल सच. ये घटना ब्राज़ील की है. ब्राजील में एक महिला की मौत का हैरान करने वाला मामला सामने आया है.

इस अजीबो-गरीब मामले के बारे में जानकर आप भी दंग रह जाएंगे. जी हां, यहां एक महिला को मरा मानकर उसे दफना दिया गया था. उसके घर वाले कुछ दिन तक खूब रोए. उसके बाद लोग अपनी डेली रूटीन में आने लगे.

मरने के बाद जिंदा

उस लड़की के मरने के ११ दिन बाद जो कुछ हुआ उसने दुनिया भर के खबरी चैनलों को अपना माध्यम बना लिया.

हर देश में वो खबर आने लगी.  37 साल की मृतक महिला का नाम रॉसएंजेला अल्मीडा डॉस सैंटोस बताया गया है. रॉसएंजेला को कुछ दिन पहले थकावट की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में भर्ती होने के करीब एक सप्ताह बाद डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया और उसका शव परिवार वालों को सौंप दिया था.

डॉक्टर्स ने महिला की मौत की वजह सेप्टिक शॉक बताई थी. डॉक्टरों के घोषित करने के बाद उसके वालों ने उसे दफना दिया.

लेकिन ११ दिन के बाद कुछ ऐसा हुआ कि सबके होश उड़ गए.

११ दिन के बाद में कब्रिस्तान के पास खेल रहे कुछ बच्चों ने एक शख्स को कब्र से आवाज आने के बारे में बताया. सबने पहले बच्चों की बात को मजाक समझा, लेकिन कब्र के पास जाने के बाद वह खुद हैरान रह गया. तुरंत महिला के परिवार वालों को कब्र से आने वाले शोर के बारे में बताया गया. महिला को दफनाने के करीब 11 दिन बाद यानी 9 फरवरी को कब्र खोदकर ताबूत को निकाला गया.  ताबूत देखकर सके होश उड़ गए. बच्चे डर गए और बड़े सहम गए.

वहां पहुँचने के बाद लोगों में से किसी ने इस पूरी घटना का वीडियो बना लिया.

वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि कुछ लोग एम्बुलेंस बुलाने के लिए कह रहे हैं, लेकिन ताबूत बाहर निकालने के बाद जो दिखा, वह वाकई में दिल दहला देने वाला था. रॉसएंजेला अल्मीडा का ताबूत से बाहर निकलने का संघर्ष साफ दिखाई दे रहा था. ताबूत पर उसके नाखूनों के गहरे निशान और ताबूत के अंदर फैला खून सब बयां कर रहा था, लेकिन ताबूत बाहर निकाने जाने पर महिला जिंदा नहीं थी. इसका मतलब ये हुआ कि वो जिंदा तो हुई थी, लेकिन बाहर निकालने की कोशिश में फिर से मर गई.

मरने के बाद जिंदा – ये बेहद दर्दनाक घटना थी. कैसी कैसी खबरें आती रहती हैं. इस तरह की खबरों से दिल दहल जाता है.

Don't Miss! random posts ..