ENG | HINDI

फिल्म दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे क्यों इतनी कामयाब रही!

दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे

फिल्म दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे क्यों रही सुपरहिट….

इस सवाल का जवाब हमने कई लोगो से पूछा, और सभी ने अलग- अलग जवाब बताए.

किसी ने कहा – दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे के गीत बेहद प्यारे है… किसी ने कहा – दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे विदेशी लोकेशन की वजह से चली… किसी ने कहा शाहरुख़ और काजोल का अभिनय बड़ा तगड़ा था तो किसी ने कहा कि फिल्म का निर्देशन सर्वश्रेष्ठ था.

सभी के बड़े विभिन्न तरीके के जवाब आए.

हम मानते है कि ये सभी जवाब काफी हद तक सही है पर क्या वाकई में दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे हिट होने के यही वजह है?

हम आपको बताना चाहते है कि फिल्म “दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे” ने क्यों हर वर्ग के दिलो में राज किया? आखिर क्यों आज भी, देश के कई ऐसे सिनेमाघरों में ये फिल्म दिखाई जा रही है. उदाहरण के तौर पर हम मुंबई के मराठा मंदिर सिनेमाघर को देख सकते है. इस सिनेमाघर में आज भी, रोज एक शो इस फिल्म का दिखाया जाता है.

बतादे कि, डीडीएलजे नाम से मशहूर इस फिल्म ने एक ऐसा संदेश दिया है, जो हमें अपने प्यार, अपने परिवार और अपने देश कि संस्कृति  से जोड़ता है. इस फिल्म में ये बताया गया है कि –

अगर हम अपने प्रेमिका या प्रेमी के दिल में जगह बना सकते ही तो, प्रेमी या प्रेमिका के माता पिता के दिल में जगह क्यों नहीं बना सकते.  

 फिल्म ने भारत देश कि संस्कृति को बढ़ावा देते हुए, इस संदेश को देश ही नहीं बल्कि विदेशो में भी फैलाने कि कोशिश की और जिसे सभी उम्र के लोगो ने अपनाया.

अक्सर हमें देखने और सुनने मिलता है कि प्रेम करने वाले जोड़े शादी करने के लिए अपने परिवार के खिलाफ चले जाते है और अपना घरबार छोड़ देते है. वे ये भी नहीं समझते कि ऐसा करने पर माँ-बाप के दिल में क्या गुजरती होगी.

आप ज़रा गंभीरता से सोचिये, ज़िन्दगी भर माँ- बाप अपने दिल के टुकड़े, अपने बच्चे को पढ़ाते है, लिखातें है, खिलाते है…. एक दीन वही बच्चा, चंद महीनो या सालो के प्यार के लिए अपने परिवार को त्याग देता है…

आप बताइये, क्या ऐसा करना सही है?

समाज के इन्ही बुराइयों को मिटाने के मकसद से इस फिल्म का निर्माण किया गया है, जिसमे जबरदस्त कामयाबी हासिल हुई. कामयाबी भी इतनी जबरदस्त थी कि फिल्म सुपर डुपर हिट हुई.

क्या आपको पता है कि देश की पसिद्ध संस्था “इंडिया टाइम्स मूवीज” ने ज़रूर देखे शब्दों का इस्तमाल करते हुए, इस फिल्म को 25 फिल्मो की लिस्ट में शामिल किया है. इतना नहीं इस फिल्म का नाम दुनिया की 1000 सर्वश्रेष्ट फिल्मो में दर्ज है. साथ ही निर्देश भी दिया गया है कि मरने से पहले इस फिल्म को एक बार जरुर देखे.

मित्रो, हमारा मकसद इस फिल्म कि प्रमोशन करना नहीं है.

हम बस आपसे ये कहना चाहते है कि प्यार करना बुरी बात नहीं है. प्यार हर इंसान को करना ही चाहिए. लेकिन अगर आप किसी लड़की या लड़के का दिल जितने में सफल होते है तो उनके माता पिता का भी दिल जीत सकते है, उनके पूरे परिवार का भी दिल जीत सकते है.

आप यकीं मानिए आपके माता-पिता का आशीर्वाद आपको सदैव सुख–समृधि देने में मददगार होगा.

धन्यवाद…

Don't Miss! random posts ..