ENG | HINDI

सरकार को कोसना बंद करो ! क्योकि इन बड़ी बीमारियों का इलाज फ्री होता है !

बीमारियों का इलाज

हम सरकार को हमेशा कोसते है कि उसने आम इंसानों के लिए क्या किया.

लेकिन क्या आप जानते है कि इस देश की सरकार ने कई ऐसे महंगे और आकर्षक काम किए है जिनकी बदोलत निम्न व मध्यमवर्गीय लोगो की चांदी हो गई है.

मेडिकल की ही बात कर लेते है.

आजकल छिक भी आ जाए तो डॉक्टर एक लम्बी चौड़ी खर्चे की लिस्ट मरीज के हाथ में थमा देता है. डॉक्टर ये भी नहीं सोचता की मरीज खर्चे के काबिल है या नहीं.

अपना सफल इलाज कराने के लिए पीढित या तो कर्जा लेता है या घर-द्वार बेच देता है या फिर बिना इलाज ही मर जाता है.

पर ये सरकार ही है जिसने कई बड़ी बीमारियों का इलाज फ्री में कराने का जिम्मा उठाया है. इन बड़ी बीमारियों में केंसर, टीबी, हार्टअटैक इत्यादी बीमारी शामिल है.

वैसे भारत सरकार की कई स्वास्थ संबंधी योजना देशभर के सभी राज्यों में चल रही है लेकिन हम सिर्फ महाराष्ट्र राज्य का ही उदाहरण आपतक पहुचाते है.

चलिए हम आपको बताते है कि महाराष्ट्र राज्य में कौन कौन से बड़ी बीमारियों का इलाज बिलकुल फ्री में होता है, जिससे महाराष्ट्र की जनता खुद को धन्य मानती है.

इन बीमारियों का इलाज फ्री में होता है – 

1 – हार्टअटैक

पिछले 4 सालो से महाराष्ट्र राज्य में राजिव गांधी योजना चलाई जा रही है.

इस योजना में मरीज के 3 लाख रुपए तक का खर्चा सरकार ही भरती है. ज्यादातर 3 लाख रुपए के आस-पास हार्टअटैक का ऑपरेशन हो ही जाता है. बशर्ते मरीज के पास महाराष्ट्र राज्य का भगवा रंग का राशन का कार्ड होना चाहिए.

वैसे ये योजना देशभर में लागू की गई है लेकिन कई राज्यों की सरकार इस योजना पर अमल नहीं कर रही.

2 – टीबी

ये बीमारी किसी ज़माने में इंसान की जान लेकर ही छोडती थी.

लेकिन आजकल कोई ही इस बीमारी के चुंगुल में आता है. ख़ास बात ये ही कि टीबी बीमारी की गंभीरता को समझते हुए सरकार ने इसका इलाज सभी सरकारी अस्पताल में फ्री रखा है.

यहाँ तक की सालो से चल रहे दवाई के डोज़ भी समयानुसार अस्पताल में मरीज़ को बिलकुल फ्री दिया जाता है.

3 – केंसर

केंसर नाम सुनकर एक खौफ ज़हन में छा जाती है.

लेकिन आपको जानकर ख़ुशी होगी कि इस बीमारी पर डॉक्टरों ने शिकंजा कस लिया है. इस बीमारी को अमीरों की बीमारी कहा जाता है, क्योकि ये जिसे हो गई उसका सबकुछ तबाह हो जाता है.

पर महाराष्ट्र सरकार ने इस बीमारी के लिए भी मदद का पिटारा खोल रखा है. मुंबई-महाराष्ट्र के ऐसे कई अस्पताल है, जहां इस बीमारी का इलाज किया जाता है, बशर्ते रकम का कुछ हिस्सा आपको भी देना होगा.

4 – स्वाइन फ्लू

इस बीमारी से अब तक 1000 लोगो की मृत्यु हो चुकी है. इसलिए सरकार ने इस बीमारी का इलाज सभी सरकारी अस्पतालों में बिलकुल निशुल्क रखा है.

पिछले साल ही कुल 600 लोगो में स्वाइन फ्लू की शिकायत पाई गई, जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने इस बीमारी का फ्री इलाज करने की योजना बनाई.

5 – रेप, यौन उत्पीडन, ऐसीड अटैक

वैसे ये तीनो चीजे आपराधिक मामले में आती है. लेकिन इस तरह की बढ़ती घटनाओं को ध्यान में रखते हुए 2014 में बॉम्बे हाईकोर्ट ने सरकार को आदेश दिया था कि इन चीजो से ग्रस्त पीढितो का इलाज बिलकुल फ्री किया जाना चाहिए.

इसके अलावा कई छोटी छोटी बीमारियों का इलाज सरकारी अस्पतालों में सरकार फ्री में करवा रही है, लेकिन जानकारी ना होने के कारण लोग सरकार को अभी भी बेवजह कोसते है.

हां हम ये मानते है कि सरकारी काम धीमी गति से चलता है पर आप थोड़ी मेहनत करेंगे तो आप अपने मरीज का इलाज निशुल्क करवा सकते है.

स्वास्थ संबंधी सरकारी योजनाओं के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी पाने के लिए आप सरकारी वेबसाइट पर जा सकते है…

स्वस्थ रहे मस्त रहे !

Don't Miss! random posts ..