ENG | HINDI

एक भारतीय जो इंग्लैंड क्रिकेट टीम का कप्तान बना और टीम इंडिया के खिलाफ खेला !

क्रिकेटर नासिर हुसैन

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के सफलतम कप्तानों में से एक क्रिकेटर नासिर हुसैन के बारे में बहुत कम लोग जानते है कि वे एक भारतीय थे।

जी हाँ जो लड़का कभी भारत की गलियों क्रिकेट खेला करता था एक दिन वो क्रिकेट को जन्म देने वाले देश की टीम का कप्तान बनता है। आइये जानते है कैसे भारत के मद्रास में जन्मा एक लड़का इंग्लैंड क्रिकेट टीम का कप्तान बना।

28 मार्च 1968 को मद्रास में रजा जावेद हुसैन और पेट्रीशिया प्राइस के घर नासिर हुसैन का जन्म हुआ।

उनके पिता फर्स्ट क्लास रणजी प्लेयर थे। रजा नासिर के जन्म से इतने खुश थे कि उनका ये बेटा उनके अधूरे सपने पूरे करेगा, विश्व में अपने क्रिकेट के जलवे बिखेरेगा। रजा ने अपने बेटे का नाम बड़ा ही सोच समझकर नासिर हुसैन रखा। जिसका मतलब होता है ईश्वर का दूसरा नाम और मदद करने वाला।

बात 1975 की है जब देश का माहौल ठीक नहीं था देश में आपातकाल का दौर चल रहा था सरकार का गिरना और फिर बनना लगा हुआ था। ऐसे में पिता जावेद हुसैन बेटे नासिर हुसैन सहित अपने पूरे परिवार के साथ 1975 में देश छोड़कर इंग्लैंड के इलफोर्ड में जाकर बस गए। जहाँ पर नासिर का दाखिला इंग्लिश स्कूल में करवा दिया गया। इसी स्कूल से नासिर धीरे-धीरे क्रिकेट की तरफ बढ़ने लगे नासिर। के पिता उन्हें एक बेहतरीन गेंदबाज के रूप में देखना चाहते थे।

क्रिकेटर नासिर हुसैन ने भी खूब मेहनत की और एक अच्छे स्पिनर के रूप में अपने आपको ढाल लिया।

लेकिन स्पिन गेंदबाजी में उनकी रुचि नहीं होने के कारण उनका मनोबल लगातार गिरता चला गया। क्रिकेटर नासिर हुसैन अपने साथी खिलाड़ियों के सामने क्रिकेट में पिछड़ने लगे। दूसरी तरफ वो अपने पिता को निराश भी नहीं करना चाहते थे इसलिए लगातार कोशिश करते रहे। धीरे-धीरे उन्होंने अपनी बैटिंग पर ध्यान देना शुरू किया जिससे धीरे-धीरे क्रिकेटर नासिर हुसैन की बैटिंग में निखार आता चला गया।

उन्होंने स्कूल स्तर की कई प्रतियोगिताओं में कई बेहतरीन रिकॉर्ड बनाये जिससे इंग्लैंड टीम के सिलेक्टर की नज़र उन पर पड़ गई।

बाद में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के चयनकर्ताओं ने उन्हें चुन लिया। अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत क्रिकेटर नासिर हुसैन को 1999 में इंग्लैंड क्रिकेट टेस्ट टीम का कप्तान बना दिया गया। क्रिकेटर नासिर हुसैन ऐसे कप्तान साबित हुए कि उन्होंने इंग्लैंड की लड़खड़ाती टीम को कई ऊंचाईयों पर पहुँचाया।

नासिर ने अपने क्रिकेट करियर में कुल 96 टेस्ट और 88 वनडे मैच खेले जिनमें उन्होंने इंडिया के खिलाफ भी कई मैच खेलते हुए बेहतरीन स्कोर बनाये। बाद में उन्होंने साल 2004 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले लिया।

Don't Miss! random posts ..