ENG | HINDI

इन 5 देशों के सामने अमेरिका की एक भी नहीं चलती, सुपर पावर की निकल जाती हैं पावर

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती

खुद को सुपर पावर कहने वाला अमेरिका कई मामलों में फिसड्डी साबित हो जाता है।

खास कर इन पांच देशों का नाम आते ही जिनके बारे में हम आपको आज बता रहे हैं। सोवियत संघ के विघटन के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सुपर पावर खत्म होने के बाद अमेरिका का सुपर पावर पर एकाधिकार हो गया लेकिन खुद को सुपर पावर कहने के बावजूद कुछ देशों के सामने उसकी बत्ती गुल हो जाती हैं।

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती –

१ – बेलारुस

कभी सोवियत संघ का हिस्सा रहा बेलारुल उसके विघटन के बाद भी अमेरिका से खौफ नहीं खाता। शीत युद्ध खत्म होने के बाद अमेरिका ने बेलारुस की जगह यूक्रेन का साथ दिया। बेलारुस के लोग शीत युद्ध के लिए पूरी तरह से अमेरिका को ही जिम्मेदार मानते हैं।

२ – नोर्थ कोरिया

नोर्थ कोरिया और अमेरिका की हालिया बयानबाजी तो आपने जरुर सुनी होगी। एक छोटा सा देश नोर्थ कोरिया अमेरिका को समय समय पर अपनी आंखे दिखाता रहता हैं और अमेरिकी राष्ट्रपति बयानबाजी के अलावा कुछ नहीं कर पाते हैं।

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती

३ – ईरान

खाड़ी देशों में ईरान एक ऐसा देश हैं जिसने कई साल तक अमेरिका का खुल कर विरोध किया। जब अमेरिकी ताकत से ईरान नहीं डरा तो अमेरिकी राष्ट्रपति ने अन्य देशों से संधि कर ईरान से तेल आयात पर रोक लगवा दिया। फिलहाल ईरान से अमेरिका की बात मान ली हैं लेकिन अब भी इसपर यकीन करना मुश्किल हैं।

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती

४ – चीन

चीन हमेंशा ही अमेरिका पर उग्र रहा है। जिस देश पर दवाब बनाने के लिए अमेरिका नजर डालता हैं, चीन उससे पहले उसके आस पास के क्षेत्र को अपने आर्थिक और सैन्य ताकत से घेर लेता है।

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती

५ – रुस

रुस को देखकर तो अमेरिका को सोवियत संघ याद आ जाता होगा। शीत युद्ध खत्म होने के बाद अमेरिका ने रुस को कमजोर करने की बहुत कोशिश की लेकिन रुस ने उल्टा अमेरिका को उसकी औकात दिखा दिया।

देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती

ये वो देश जिनके सामने अमेरिका की नहीं चलती हैं। इन देशों के सामने अमेरिका का पावर इतना डाउन हो जाता हैं कि वह चाह कर भी कुछ नहीं कर पाता हैं।

Don't Miss! random posts ..