ENG | HINDI

दुनिया में सबसे ज्यादा लोग इस धर्म के रहते है, जानिए बाकी धर्मों की स्थिति!

सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग

सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग – वैसे तो पूरी दुनिया में कई धर्म, जाति और संप्रदाय के लोग रहते है लेकिन इनकी कुल जनसंख्या की बात की जाए तो वह 7.6 बिलियन है.

इस हिसाब से दुनिया में फ़िलहाल 7.6 बिलियन लोग रहते है जो अलग-अलग धर्मों को मानने वाले है. लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि धर्म के हिसाब से देखा जाय तो किस धर्म के लोग दुनिया में सबसे ज्यादा रहते है.

आज हम आपको विश्व में सबसे ज्यादा रहने वाले 6 धर्मों की जनसँख्या बताने जा रहे है. इन 6 धर्मों को मानने वाले लोग दुनिया में सबसे ज्यादा रहते है.

सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग

तो आइये जानते है धर्मों के हिसाब से दुनिया की जनसँख्या के बारे में- सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग

1. ईसाई-

ईसाई धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 230 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 32 प्रतिशत है.

2. इस्लाम-

इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में दूसरे सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 170 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 24 प्रतिशत है.

3. हिंदू-

हिंदू धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में तीसरे सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 110 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 14 प्रतिशत है.

4. बौद्ध-

बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में चौथे सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 40 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 5.5 प्रतिशत है.

5. सिख-

सिख धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में पांचवें सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 2.5 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 0.32 प्रतिशत है.

6. यहूदी-

यहूदी धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में छटवें सबसे ज्यादा है. इनकी जनसँख्या 1.5 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 0.20 प्रतिशत है.

इन सभी आंकड़ों को देखकर आप जान ही गए होंगे की विश्व में सबसे ज्यादा इन 6 धर्मों को मानने वाले लोग रहते है. सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग है

इनमें सबसे ज्यादा ईसाई धर्म के लोग है जो दुनिया के सभी देशों में पाए जाते है. धार्मिक आबादी के आधार पर ये सभी आंकडें 2010 से 2015 के आंकडों पर आधारित है. हालाँकि इन आंकड़ों में किसी भी धर्म को ना मानने वाले और पारम्परिक रीति रिवाजों वाले लोक धर्मों को मानने वाले लोगों को शामिल नहीं किया गया है. साल 2010 से 2015 के बीच किसी भी धर्म को ना मानने वाले लोगों की संख्या कुल जनसँख्या की 15 प्रतिशत हुआ करती थी. वहीं पारंपरिक रीति रिवाजों वाले लोक धर्मों को मानने वाले लोगों के समूह चीन और अफ्रीका में पाए जाते है. इसके अलावा भी विश्व में कई छोटे-छोटे धर्मों को मानने वाले लोग भी रहते है, जैसे भारत का जैन धर्म भी इन्ही लोगों में आता है.

धर्म के आधार पर ये है विश्व के 6 सबसे बड़े धर्म जिनको सबसे ज्यादा लोग मानते है.

हालाँकि हमारा मानना है कि कोई इन्सान किसी भी धर्म को माने लेकिन इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं है और ना ही होगा. यहाँ पर दिए गए सभी आंकड़े इंटरनेट से लिए गए है इसलिए इन आंकड़ों को लेकर हम किसी भी तरह का दावा नहीं करते है.

Don't Miss! random posts ..