ENG | HINDI

चीनी राष्ट्रपति ने सेना को कहा तैयार रहे – जानिए भारत में क्या हलचल है

चीनी सेना तैयार

साउथ चाइना सी को लेकर चीन और अमेरिका के बीच तनाव कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है.

एक ओर अमेरिका चीन की वन चाइना नीति का विरोध कर रहा है तो दूसरी ओर चीन भी साउथ चाइना सी में अमेरिका की बढ़ती समुद्री ताकत को लकर चिंतित है.

आपको बता दें कि चीनी सेना तैयार  है – चीन में हाल ही में सेना की 84 नई टुकड़ियां बनाई गई हैं. चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना की इन नई टुकड़ियों को हर चीनी राष्ट्रपति शी ने सैनिकों को तरह के युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा है.

खासतौर पर उन्हें युद्ध कौशल, इलेक्ट्रॉनिक हथियार, सूचना और अंतरिक्ष वॉर के लिए तैयार रहने के लिए कहा है. बताता है कि इब चीन को आभास हो गया है कि अमेरिका उत्तर कोरिया के साथ चीन को भी अपने रडार पर लिए हुए है, इसलिए चीनी सेना तैयार है.

अमेरिका ने उत्तर कोरिया और चीन से निपटने के लिए दक्षिण कोरिया में अपने टर्मिनल हाई एल्टीट्यूड एरिया डीफेंस (थाड) इंटरसेप्टर मिसाइल तैनात किए हैं.

गौरतलब हो कि कुछ दिन पहले दक्षिण कोरयिा और जापान पर परमाणु हमले की आशंका को देखते हुए अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में थाड मिसाइलें तैनात की थी. इन मिसाइलों की तैनाती से चीन में खलबली मच गई थी, क्योंकि बहुत ही घातक इन थाड मिसाइल सिस्टम से उत्तर कोरिया तो छोड़िए रूस और चीन भी परेशान है. चीन को लगता है कि उत्तर कोरिया की परमाणु धमकी की आड़ में अमेरिका पूर्वी एशिया में अपनी सैन्य शक्ति का विस्तार कर रहा है.

यही कारण है कि अमेरिका के इस कदम के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है. अमेरिका के इसी कदम को देखते हुए चीन के राष्ट्रपति ने सेना को सलाह दी है और चीनी सेना तैयार है.

जानकारी के अनुसार इस इंटरसेप्टर मिसाइल के ताकतवर रडार से पूरे चीन पर नजर रखी जा सकती है. कहा जा रहा है कि थाड चीन और कोरिया में तैयार हो रहे हथियारों पर भी नजर बनाए रखी जा सकती है.

यही चीन की चिंता का सबसे बड़ा कारण है.

वहीं दूसरी ओर भारत भी चीन की धमकी को हल्के में नहीं ले रहा है. क्योंकि चीन ने ये धमकी भले ही अमेरिका को नजर में रखकर दी हो लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत अमेरिका स्ट्रेटेजिक पार्टनर है.

Don't Miss! random posts ..