ENG | HINDI

2020 तक ये देश बनेगा फिल्मी इंडस्ट्री का सबसे बङा बाजा

फिल्मी इंडस्ट्री

पिछले कुछ सालों में बदलते दौर के साथ फिल्मी इंडस्ट्री में भी कई बदलाव आए ।

फिल्मों शरुआती दौर में अभिनय पर ज्यादा ध्यान दिया जाता था। बजाय ग्लैमर के । हालांकि उस वक्त की फिल्मों की कहानियों की सोच उस दौर के लोगों की सोक पर आधारित होती थी। लेकिन धीरे -धीरे वक्त बदलने लगा। जहां पहले फिल्मों की कहानियाँ उस दौर के लोगों की सोच को दिखाती थी।

अब फिल्में को लोगो को प्रभावित करने और लोग फिल्मों के कारण अपनी सोच में बदलाव लाने लगे । ये दुनियाभर के सिनेमा के लिए क्रांति थी। और एक अच्छा संकेत था।

क्योंकि अब निर्देशक अपनी सोच को बिना बंदिशो को परदे पर उतार सकता था । लेकिन हर चीज के बुरे और अच्छे फायदे होते है । और यही सिनेमा के साथ भी हो रहा है । अब फिल्मों में बोल्डनस और प्राइवेट मूवमेंट में दिखाया जाने लगा है। इसलिए आज के वक्त में फिल्मों की चोस करना बहुत जरुरी हो गया है खासतौर पर बच्चों के लिए। हालांकि हम इस बात से इंकार नही कर सकते कि फिल्में चाहे कैसी भी हो कमाई की सबसा अच्छी इंडस्ट्री बन गई है। और इस बात बङे बङे देश भी मानते है।

फिल्मी इंडस्ट्री

दुनिया के सबसे ताकतवर  विकसित देशों में से एक चीन । जो दुनिया में नंबर वन देश की  बने की कोशिश कर रहा है ।

उसने ऐलान किया है कि वो 2020 तक 60000 सिनेमा हाॅल खोलेगा । इतने सिनेमा हाॅल अब तक किसी भी देश में नही है । साथ ही इन सिनेमा हाॅल के खोलने से चीन की आर्थिक कमाई भी बहुत ज्यादा बढ जाएगी । जिसे चीन दुनिया का सबसे बङा फिल्मी बाजार बन जाएगा । चीन फिल्मों से सालाना 50 अरब की कमाई करता है । जो 2020 तक इन सिनेमा हाॅल के खुलने के बाद  70 अरब तक हो जाएगी । जिसके साथ चीन दुनियाभर में फिल्मों से कमाई करने वाला सबसे बङा बाजार बन जाएगा ।

वैसे आपको बता दें इसे भारत की फिल्मी इंडस्ट्री को भी काफी हद तक फायदा होगा । क्योंकि चीन में भारतीय फिल्मों को काफी पंसद किया जाता है । आमिर खान की फिल्म “दंगल” ने चीन में 1100 करोङ का बिजनेस किया था।

फिल्मी इंडस्ट्री

इस फिल्म को चीन की  कुल 700 स्क्रीन पर रिलीज किया गया था ।  इस फिल्म को चीन के सरकारी अधिकारियों ने भी काफी सराहा था। और स्कूलों में बच्चों को और उनका पेरेंट्स को ये फिल्म देखने की सलाह दी गई थी। क्योंकि ये फिल्म एक बायोपिक होने के साथ साथ काफी स्ट्रांग मैसेज भी देती है।

चीन के सरकारी संवाद उपनिदेशक का कहना है कि इन सिनेमा हाॅलो के तैयार होने के बाद इन सिनेमा हाॅल में हर साल 800 फिल्में रिलीज होंगी । आपको बता दें चीन अपनी घरेलु फिल्मों से 26.5 अरब करोङ कमाता है जो कुल कमाई का 52 फीसदी है ।अब तक अमेरिका फिल्मों से कमाई करने वाला सबसे बङा देश है ।जिसे चीन अब टक्कर देने की तैयारी कर रहा है। हाॅलीवुड फिल्म “ईट” ने भी चीन में काफी अच्छा बिजनेस किया  था । इस फिल्म ने सिर्फ एक हफ्ते में 1500 करोङ की कमाई की थी।

वही बात की जाए तो भारतीय फिल्मी इंडस्ट्री और फिल्में विश्वभर में काफी अच्छा काम कर रही है इसलिए भारत को भी अपने फिल्मी बाजार का विस्तार करना चाहिए ।

Don't Miss! random posts ..