ENG | HINDI

चीन में पूजे जाते हैं हिंदुओं के ये भगवान जिसके तथ्य है चौकाने वाले !

चीन में शिव मंदिर

चीन में शिव मंदिर – कई बार हमें कई ऐसे तथ्य मिलते हैं जिसे भगवान पर हमारा विश्वास ओर बढ जाता है।

भारत में भगवान शिव की बहुत मान्यता है। शिव को ही सृष्टि का निर्माता माना जाता है। हिंदुओं का शिव में विश्वास किसी से छिपा नही है। और ये विश्वास कोई काल्पनिक नही है ।

भगवान शिव और उनकी पत्नी के कई तथ्य प्रमाण पूरे  भारत  में मिले हैं । शिव और पार्वती को जगत पिता और जगत माता कहा जाता है । शिव की पूजा से सुख समृद्धि की प्राप्ति है। जिस वजह से भगवान शिव को पूरे भारत में अलग – अलग रुपों में पूजा जाता है।
लेकिन क्या शिव की पूजा सिर्फ भारत में होती है। जवाब है नही ।

चीन में शिव मंदिर

भारत  के पङोसी देश चीन जिसे एक नास्तिक देश कहा जाता है, क्योंकि वहाँ के लोग भगवान पर विश्वास नही करते है। उस देश में भगवान शिव और माता पार्वती के प्रमाण मिले हैं।

जी हां चीन में शिव मंदिर – भगवान शिव और माता पार्वती के बहुत से मंदिर चीन में है और चीनी लोग इन मंदिरों में नियमित पूजा- पाठ भी करते हैं।

चीन में कई जगह शिवालय है और मंदिर है जहां शिव और पार्वती की पूजा होती है। चीनी लोगो ने अपनी भाषा में शिव और पार्वती के नाम भी रखे है । इस बात की जानकारी लेखक संजीव सान्याल ने दी है। लेखक संजीव सान्याल “वैली ऑफ वड्स ” और “दि लैड ऑफ सेवन रिवर”  जैसी किताबें लिखी है।

लेखक के अनुसार रिसर्च के दौरान उन्हें चीन में शिव मंदिर मिले । ये मंदिर 800 ईसवी के है।

वैसे आपको बता दें चीन, जापान, उत्तर कोरिया जैसे देशों में भगवान शिव के वाहन नंदी की पूजा भी होती है। यहाँ के लोगों के अनुसार नंदी मृत्यु के बाद मनुष्य की आत्मा को स्वर्ग ले जाने आते हैं।

हालांकि भारत में नंदी को भगवान शिव के वाहन के रुप में पूजा जाता है। लेकिन ये सब चीजें इस बात की ओर इशारा करती है कि भगवान शिव के  प्रमाण सिर्फ भारत में ही नहीं पूरे एशिया में बिखरे पङे है।

ऐसा शायद इसलिए हुआ क्योंकि पुराने वक्त में लोग एक देश से दूसरे देश व्यापार की वजह से  या अन्य कारणों की वजह से जाते थे जिस वजह से इनके साथ इनकी संस्कृति और आस्था भी घूमती थी।

Don't Miss! random posts ..