ENG | HINDI

मिर्च है दर्द नाशक, क्या आप जानते हो ?

Bowl-Of-Hot-Peppers

भारतीय खानपान में मिर्च का इस्तमाल बहुत अधिक रहता है.

मीठे पदार्थ छोड़ सभी व्यंजनो में मिर्च का इस्तमाल होता है. अन्य देशो के खानपान में मिर्च का प्रयोग बेहद सिमित रहता है. उनकी तुलना में भारतीय खान पान अधिक चटपटा है.

हम अक्सर आहार विशेषज्ञ और डॉक्टार से यह सुनते है कि मिर्च नहीं खाना चाहिए. मिर्च के अधिक सेवन से कई बिमारियां हो जाती है, पेट ख़राब होता है साथ में अल्सर भी होता है.

किंतु यही मिर्च आपका दर्द दूर कर सकती है. मिर्च है दर्द नाशक!

जी हा, जो चीज़ खाने से आप डर रहे हो वही मिर्च दर्द नाशक का काम करती है. इसलिए हमेशा आपको अब दर्द नाशक की दावा बाजार से नहीं लानी होगी.

मिर्च में क्या तत्व है ?

मिर्च विटामिन का बहुत अच्छा स्रोत हैं. मोलिब्डेनम, मैंगनीज, फोलेट, पोटेशियम, थियामिन, और तांबे जैसे खनिजों के साथ, A, B, Cऔर E विटामिन एक मिर्च में होते है. ऑरेंज से ७ गुना ज्यादा विटामिन C इस मिर्च में होता है.

कौन सी बिमारियां मिर्च से रहती है दूर ?

कैंसर, हृदय रोग, स्ट्रोक, रक्त के थक्के, मोटापा, उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, ब्रोंकाइटिस, वातस्फीति, खांसी और जुकाम.

heart

डीटोक्सीकंट : मिर्च Detoxifiers की जैसे काम करती है और शारीर से अनावश्यक पदार्थो को बाहर निकालती है.

रेड़ीएशन से बचाती है मिर्च : विकिरण चिकित्सा के दौर से गुजर रहे लोगों के लिए लाल मिर्च के सेवन से स्वास्थ्य सुधरने में काफ़ी मदद होती है.

जीवन निर्वाहक : DNA पर विषाक्त अणुओं के हमले से शिमला मिर्च रोकथाम लगाती है.

दर्द नाशक : मिर्च खाने से हाथ पैरों में गठिया के दर्द से राहत मिलती है.

कोलेस्ट्रॉल सेनानी : रक्त वाहिकाओं को जो कोलेस्ट्रॉल के तत्व हानी पहुचाते है, उनको मिर्च रोकने में कारगर रहती है.

मूड बनाने : मिर्च का Capsaicin एंडोर्फिन को शरीर से बाहर निकालता है एवं मस्तिष्क का संतुलन बना रहता है.

उपयोगी सलाह

१. मिर्च का अधिक सेवन करना पसंद है तो मिर्च से तीखापन कम करे. मिर्च के बीज और सफ़ेद पर्दा निकाल दे. इससे मिर्च सेहत के  लिए अधिक फायदेमंद  हो जाएगी.

२. मिर्च खाने से अगर मुंह जले तो नाक से सांस ले और अधिक जल रहा है तो उबला चावल, दही, ककड़ी, दूध, शक्कर या चोकलेट जैसे चीज़े खाएं. क्योकि पानी पीने से और मुंह से सांस लेने से मिर्च से जले हुए छाले ज्यादा जल उठते है.

pepper

चेतावनी

१. नियमित रूप से अधिक मात्रा में मिर्च खाने से Gastritis और पेप्टिक अल्सर हो सकता है.

२. चिड़चिड़ा  और गरम दिमाग के लोगों के लिए मिर्च का अधिक सेवन ठीक नहीं है.

३. Piles अगर हो तो, मिर्च का सेवन बेहद कम मात्रा में करे वरना रक्त प्रवाह की समस्या बढ़ सकती है.

४. गर्भवती महिला को मिर्च खाने पर लगाम लगानी चाहिए अन्यथा गर्भपात भी हो सकता है. या फिर नवजात को दूध पिलाते वक़्त बच्चे की सेहद पर समस्याएं आ सकती है.

Pregnant-Woman

मिर्च का Capsaicin शारीर के लिए बेहद फायदे मंद है. इस लिए इसका सेवन सही मात्रा में  करना आवश्यक  है. कोई भी खाने पीने के पदार्थ ज्यादा खाने से अपाय कारक होना लाज़मी है.

ख़ास करके मिर्च जिसे भारतीय खाद्य प्रणाली में काफी उपयोग किया जाता है.

Don't Miss! random posts ..