ENG | HINDI

अब लोग रेलवे ट्रैक पर छठ मनाते दिखे, फिर कहते हैं सरकार को हमारी फिक्र नहीं

छठ की पूजा

छठ की पूजा – बिहार में मानाया जाने वाला छठ के प्रति श्रद्धा पूरी दुनिया में लोग रखते हैं।

छठ की पूजा एक ऐसा व्रत है जिससे कोई शायद ही कभी खिलवाड़ करने की सोच सकता है क्योंकि इसके प्रति जो मान्यता मानी जाती है वह काफी विश्वसनीय है। इस कारण ही तो घाट पर मनाए जाने वाले छठ में भी अर्घ्य देने के सबय कोई मजाक करने की हिमाकत नहीं कर सकता है। माना जाता है कि इस व्रत को करने से सारी मनोकामना पूरी हो जाती है। इसलिए इस व्रत को चलन पूरे देश में हो गया है और हर राज्य के लोग यह व्रत करते दिख जाते हैं।

लेकिन इस बार यह क्या?

छठ की पूजा पार हुए 5 दिन हो गए हैं लेकिन इससे जुड़ा वीडियो अब भी काफी वायरल हो रहा है।

छठ की पूजा

छठ की पूजा का वीडियो हो रहा वायरल

छठ की पूजा 12 से 14 नवंबर तक था और आज छठ पूजा को बीते 5 दिन से अधिक हो गए हैं। लेकिन छठ का यह वीडियो 5 दिन बाद भी काफी वायरल हो रहा है। यह वीडियो पंजाब का है और इसमें छठ पूजा मनाते देख रहे लोगों को दिखाया गया है। पंजाब में भी आजकल छठ पूजा होने लगी है और पंजाब के लोगों के लिए यह पूजा पूरी तरह से नई है। जिसके कारण अपने राज्य में इस पूजा को मनते देख श्रद्धालु खुद को रोक नहीं पाए और यह पूजा देखने के लिए काफी संख्या में इकट्ठे हुए।

छठ की पूजा

रेलवे ट्रैक पर हुए इकट्ठे

लेकिन… लेकिन पूजा देखने में समस्या नहीं थी। बल्कि जहां ये श्रद्धालू खड़े होकर पूजा देख रहे थे उस जगह से समस्या है। पंजाब में ये श्रद्धालू रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर पूजा देख रहे थे। इस श्रद्धालूओं को जब आप पंजाब के बठिंडा में छठ पूजा के दौरान कुछ रेलवे ट्रैक से गुज़रता देखेंगे इस वीडियो में तो आपका मुंह खुला का खुला रह जाएगा। वह भी उस राज्य में जहां रेलवे ट्रैक पर रामलीला देखने के दौरान 60 से अधिक लोगों की जान रेल से कटकर हो गई।

छठ की पूजा

दशहरा में हुआ है बड़ा हादसा

अभी दशहरा पर्व के दौरान हुए अमृतसर में रेलवे ट्रैक पर हुए भयानक हादसे में 60 से अधिक लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है, लेकिन ऐसा लगता है कि छठ श्रद्धालुओं ने रेल हादसे से भी कोई सबक नहीं लिया है। वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे श्रद्धालु आवागमन के लिए चालू रेलवे ट्रैक पर चल रहे हैं, जिनमें महिलाओं से लेकर बच्चे भी शामिल थे। श्रद्धालु ट्रेन के वहां से किसी भी वक़्त गुज़रने की परवाह किए बिना ट्रैक से गुज़रते रहे। यहां तक कि दो व्यक्ति अपनी साइकिलों के साथ रेलवे ट्रैक से गुजरने से बाज नहीं नजर आए। इतना ही नहीं, रेलवे ट्रैक के पास बने घाट पर जब महिलाएं छठी मैया की पूजा कर रहीं थी तो उनके साथ आए उनके परिजन भी रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर पूजा देखते रहे।
इस वीडियो से तो यही सीख मिलती है कि भारतीय दुर्घटनाओं से भी नहीं सीखते और उनके लिए खुद की ही जान काफी सस्ती है।

छठ की पूजा

दहला हुआ है देश

अभी जहां सारा देश रामलीला की घटना के बाद से दहला हुआ है और उस घटना के लिए सरकार की आलोचना कर रहा है वहीं इस तरह से रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर छठ पूजा देखना पूरी तरह से बेवकूफी लगती है। यह लोगों की लापरवाही को ही पेश करती है। इस बार भी दर्शक छठ देखने के लिए रेलवे ट्रैक पर खड़े दिखाई दिए। ABP के अनुसार, “पुलिस ने लोगों को ट्रैक से हटाने की कोशिश भी की लेकिन लोगों ने अनसुना कर दिया। पुलिस वहां जाकर लोगों को हटा रही थी लेकन वे पुलिस की नहीं सुन रहे थे।”

जनता कुछ और ही कह रही है

वहीं अन्य चैनल में दिखाए जाने वाले वीडियो में जनता कुछ और ही कहती नजर आ रही है। जब एक रिपोर्टर ने उनसे इस असुरक्षा के बारे में पूछा तो वे कहने लगे कि “क्या करें, पुलिस ने कोई व्यवस्था ही नहीं की है और ना ही प्रशासन ने छठ पूजा देखने की व्यवस्था की है। ऐसे में यहीं खड़े होकर पूजा देखनी पड़ रही है।”

इसमें जनता पक्ष सुना जाना चाहिए। चलो इस बार तो कोई घटना नहीं हुई लेकिन शायद प्रशासन अगले साल छठ की पूजा देखने की कोई व्यवस्था कर दे।

Don't Miss! random posts ..