ENG | HINDI

घर में प्रयोग करते हैं CFL LIGHT ! जान प्यारी है तो CFL का प्रयोग करते हुए बरतें यह 5 सावधानियाँ

CFL LIGHT

हम सभी के घरों में CFL LIGHT प्रयोग में लाई जाती हैं.

आज पुराने बल्ब की जगह यहीं सब उपयोग में लायी जा रही हैं.

Compact Fluorescent Lamp ना जाने कब हमारे घरों में जगह बना लेता है और हमको मालूम ही नहीं चलता है. सत्य बात है भारत एक बड़ा और बेवकूफ लोगों से भरा हुआ बाजार है. कोई भी नई चीज आती है और हम बिना जांच-पड़ताल किये उसका उपयोग करना शुरू कर देते हैं.

अब आप देखिये ना कि CFL LIGHT में एक पारा का इस्तेमाल होता है और यह पारा हमारी जान ले सकता है. साथ ही साथ फोस्फोरस का भी इस्तेमाल इसमें होता है. हमने कभी इसे जानने की ही कोशिश नहीं की है.

तो आइये जानते हैं कि CFL LIGHT का प्रयोग करते हुए, कैसे बरतें सावधानी-

1.   लगाते वक़्त स्विच ऑफ रखें

इसको लगाते वक़्त आप एक तो कपड़े से इसको पकड़ें और दूसरा कि लाइट का स्विच बंद रखें. जब आप लगाकर नीचे उतर आयें तब स्विच ऑन करें. कई बार लाइट की वजह से यह लगाते वक़्त फट सकती है जो काफी खतरनाक सिद्ध होगी.

2.   अगर कभी फट जाये तो

गलती से कभी CFL LIGHT फट जायें तो सबसे पहले बच्चों को इससे दूर करें और खुद भी दूर हो जायें. लगभग 20 मिनट तक इससे दूर रहें. तब अच्छी चप्पल या जूते पहनकर इसके पास जायें क्योकि इसमें उपयोग किया गया पारा आपकी जान ले सकता है. आपके पैर में अगर वह लग गया तो आपका पैर बुरी तरह से घायल हो सकता है.

3.   इसको हटाते वक़्त

अगर CFL LIGHT आपको हटानी है तो गर्म CFL LIGHT को ना छुए. पहले उसको ठंडी हो जाने दें और उसके बाद कपड़े से पकड़कर ही उसको निकालें.

4.   बच्चों के हाथ में CFL ना दें

याद रखें कि बच्चों के हाथ में तो आप CFL लाइट न ही दें. बेशक वह खराब हो या सही. किन्तु उसके लिए यह बड़ी खतरनाक चीज होती है. उनको नहीं पता इसके साथ क्या करना है और कई बार वह इसको मुंह में भी दे लेते हैं. तो याद से उसके हाथ में यह ना पहुंचे.

5.   कैसंर का खतरा

इन्टरनेट पर कुछ रिपोर्ट्स ऐसी भी हैं जहाँ साफ लिखा हुआ है कि CFL से कैंसर का खतरा बना रहता है. इससे निकलने वाली UVC और UVA किरणों द्वारा इंसान के शरीर में कैंसर खतरा बन जाता है. UV किरणें इन्सान की स्किन को भी नुक्सान पंहुचा रही हैं.

तो कुलमिलाकर सबसे पहले तो सरकार को इस ओर जाँच करानी चाहिए.

क्योकि शासन-प्रशासन सब कुछ जानते हुए और धन के दम पर इन कम्पनियों को भारत में आने की मंजूरी तो दे देता है किन्तु यह कभी नहीं जानने की कोशिश करता है कि इसके नुकसान क्या-क्या हैं? तो अब आप खुद ही CFL LIGHT के सच को WHO की रिपोर्ट और अन्य देशों की रिसर्च के आधार पर, इसके नुकसान जांचने की कोशिश करें.

Don't Miss! random posts ..