ENG | HINDI

यदि आपकी रूचि कंप्यूटर में है तो “एथिकल हैकिंग” में बना सकते हैं गजब का करियर

एथिकल हैकिंग

हाल के वर्षों में एथिकल  हैकिंग ने बड़ी लोकप्रियता हासिल की है।

इंटरनेट प्रौद्योगिकी के उपयोग में वृद्धि के साथ, इंटरनेट सुरक्षा हमारे लिए चिंता का विषय बन गई है। बार-बार, हम डेटा चोरी, पहचान चोरी, ऑनलाइन मौद्रिक धोखाधड़ी आदि के उदाहरणों में आते हैं।

हां, इंटरनेट सुरक्षा को हल्के ढंग से नहीं लिया जा सकता है! एथिकल हैकिंग को इंटरनेट सुरक्षा का हिस्सा माना जा सकता है।

एथिकल हैकिंग क्या है? इस क्षेत्र से जुड़े दायरे क्या हैं? नैतिक हैकर कैसे बनें? भारत में कौन से व्यावसायिक नैतिक हैकिंग पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं? आगे इन सभी सवालों के  जवाब  आपको मिलेंगे।

एथिकल हैकिंग क्या है?

एथिकल हैकिंग

हैकिंग एक कमजोरियों और / या कमियों का पता  करके कंप्यूटर नेटवर्क, सिस्टम या इंटरनेट इकाई में तोड़ने के साथ उसका हल  करता है। हैकिंग के लिए दो पक्ष हैं – एथिकल हैकिंग और ब्लैक टोपी हैकिंग (नियमित हैकिंग)।

एथिकल हैकर कंप्यूटर नेटवर्क, सिस्टम और संगठनों और कंपनियों की इंटरनेट इकाइयों में हैक करके सिस्टम के भीतर मौजूद त्रुटियों, कमियों और सुरक्षा भेद्यता को जानने के लिए इन प्रणाली  है।

संक्षेप में, एथिकल हैकर्स नेटवर्क, सिस्टम और वेब इकाइयों में त्रुटियों की जांच और पता लगाते हैं। एथिकल हैकर का अंतिम उद्देश्य सिस्टम में कमजोरियों की पहचान करना और समय-समय पर इसे पकड़ना है!

ब्लैक टोपी हैकर्स (या नियमित हैकर्स) खराब इरादे से सिस्टम में हैक (उनके व्यक्तिगत लाभ के लिए)। दूसरी तरफ, नैतिक हैकर अपनी कमजोरियों की पहचान करने और इसे पकड़ने के लिए सिस्टम में टूट जाते हैं!

इस डिजिटल युग में, इंटरनेट प्रौद्योगिकी हमारे दैनिक जीवन में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। हम बैंकिंग, खरीदारी, शिक्षा और मनोरंजन के लिए इंटरनेट पर भरोसा करते हैं।

सरकारों के नागरिकों का डेटा उनके सर्वर और सिस्टम पर संग्रहीत होता है। संक्षेप में, सर्वर और कंप्यूटर नेटवर्क पर प्रत्येक दिन बहुत महत्वपूर्ण डेटा संग्रहीत किया जा रहा है।

एथिकल हैकर के लिए योग्यता-

(1) शिक्षा

जिनकी कंप्यूटर विज्ञान या आईटी या कंप्यूटर इंजीनियरिंग में शैक्षणिक पृष्ठभूमि है, वे एथिकल हैकिंग के क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं।

उन्हें सी, सी ++, पायथन, रूबी इत्यादि जैसी प्रोग्रामिंग भाषाएं आनी  चाहिए। विंडोज, लिनक्स और फ़ायरफ़ॉक्स आदि के विभिन्न संस्करणों जैसे, व्यापक रूप से प्रयुक्त ऑपरेटिंग सिस्टम की समझ भी आपके ज्ञान  का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। एथिकल हैकिंग में कुछ ज्ञात प्रमाणन ईसी परिषद द्वारा प्रस्तावित सीईएच (प्रमाणित एथिकल हैकर) और सीएचएफआई (कंप्यूटर हैकिंग फोरेंसिक जांचकर्ता) हैं; सीसीएनए सुरक्षा (सिस्को प्रमाणित नेटवर्क एसोसिएट सुरक्षा); एससीपी के एससीएनएस (सुरक्षा प्रमाणित नेटवर्क विशेषज्ञ) और एससीएनपी (सुरक्षा प्रमाणित नेटवर्क पेशेवर); सीआईएसएसपी (प्रमाणित सूचना प्रणाली सुरक्षा पेशेवर) इंटेल सूचना प्रणाली सुरक्षा प्रमाणन कंसोर्टियम और कई अन्य द्वारा प्रदान की जाती है। अमेरिका में एसएएनएस संस्थान से प्रमाणन महंगा है हालांकि क्षेत्र में एक और मूल्यवान प्रमाणीकरण है। पाठ्यक्रम सिस्को, माइक्रोसॉफ्ट, नोवेल इत्यादि द्वारा प्रमाणित प्रमाणन जैसे तटस्थ, या विक्रेता हो सकते हैं। एथिकल हैकिंग कोर्स हैकिंग के समान तरीकों का उपयोग करके एक नेटवर्क या प्रोग्राम में कमियों को खोजने के लिए एक छात्र को प्रशिक्षित करता है। उपर्युक्त गहन प्रमाणन सभी नेटवर्क प्रशासकों के लिए महत्वपूर्ण नेटवर्क सुरक्षा बुनियादी सिद्धांत प्रदान करता है। कवर किए गए कौशल में फ़ायरवॉल, आईडीएस, वायरलेस सुरक्षा, क्रिप्टोग्राफी, लिनक्स सुरक्षा, विंडोज़ सुरक्षा के डिजाइन और इम्प्लांटेशन शामिल हैं।

(2) व्यक्तिगत गुण

एक एथिकल हैकर बनने के लिए, कंप्यूटर विज्ञानं का ज्ञान  और गैजेट का प्रयोग करने की जानकारी होना महत्वपूर्ण प्राम्भिक -आवश्यकताएं हैं। एक पेशेवर एथिकल हैकर होने के लिए आपको प्रेरणा, समर्पण, विश्लेषणात्मक सोच, पहल, समस्या निवारण क्षमता, जांचात्मक प्रकृति और एथिकल हैकिंग में औपचारिक प्रशिक्षण की भी आवश्यकता होती है। इस क्षेत्र में ईमानदारी, अखंडता और भरोसेमंदता भी बेहद जरूरी है। परीक्षण सॉफ्टवेयर और सिस्टम के दौरान किसी भी अप्रत्याशित स्नैग की समस्या निवारण के लिए एथिकल हैकर्स में समझ और सामर्थ  होनी  चाहिए। उनके पास भी अच्छा कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर ज्ञान होना चाहिए। इंटरनेट और नेटवर्किंग और प्रोग्रामिंग के बुनियादी ज्ञान में गहरी दिलचस्पी होनी चाहिए। सबसे ऊपर वह एक प्रमाणित एथिकल हैकर होना चाहिए। निरंतर प्रशिक्षण और अद्यतन, साथ ही विभिन्न तकनीकों का ज्ञान एथिकल हैकर के लिए जरूरी है।

एथिकल हैकर के लिए नौकरी की संभावनाएं-

दुनिया भर में इंटरनेट के उपयोग के साथ,  साइबर अपराध भी बढ़े, एथिकल हैकर आज किसी भी आईटी सुरक्षा उद्योग का एक अभिन्न कार्यबल बन गए हैं। हालांकि, वर्तमान में एथिकल हैकरों के संबंध में मांग और आपूर्ति के बीच एक बड़ा अंतर है। इसलिए, इस फील्ड के लिए गुंजाइश न केवल भारत में बल्कि विश्व स्तर परभी  अत्यधिक हैं ।

इंटरनेट सुरक्षा और नेटवर्किंग दो सबसे तेजी से बढ़ते उद्योग हैं जहां एथिकल हैकर्स एथिकल हैकिंग और सूचना सुरक्षा में रोजगार पा सकते हैं। एथिकल हैकर्स को उनके नेटवर्क में मौजूद किसी भी भेद्यता को जानने के लिए किराए पर लिया जाता है और यह पता लगाने के लिए कि उन्हें कैसे ठीक किया जाए। वे साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों के रूप में सरकार के साथ-साथ निजी संगठनों में शामिल हो सकते हैं। आईटी फर्म एथिकल हैकर्स के मुख्य भर्तीकर्ता हैं। हालांकि, यह केवल आईटी कंपनियों तक सीमित नहीं है लेकिन ऐसे विशेषज्ञों को वित्तीय सेवा प्रदाताओं, एयरलाइंस, खुदरा श्रृंखला, होटल और कई सरकारी एजेंसियों को  भी आवश्यकता  है।

सैन्य एजेंसियां जैसे कि सैन्य और कानून प्रवर्तन एजेंसियां, रक्षा संगठन, फोरेंसिक प्रयोगशालाएं, जासूसी कंपनियां, जांच सेवाएं एथिकल हैकर्स के लिए चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं प्रदान करती हैं। कुछ कुशल हैकर्स केंद्रीय जांच ब्यूरो, राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी और सूचना संघीय ब्यूरो जैसे जांच एजेंसियों के लिए काम करते हैं।

कुछ बड़े संगठन सुरक्षा परीक्षकों को रोजगार देते हैं और अन्य ठेकेदारों का उपयोग अपने सिस्टम का ऑडिट करने के लिए करते हैं। स्नातक अपनी खुद की कंपनियों को एथिकल हैकिंग सेवाओं की पेशकश कर सकते हैं। विप्रो, इंफोसिस, आईबीएम, टीसीएस, टेक महिंद्रा, एचसीएल, एयरटेल, रिलायंस और कई अन्य कंपनियां अच्छी एथिकल हैकर्स की तलाश में हैं।

नेटवर्क सुरक्षा प्रणाली प्रबंधक, नेटवर्क सुरक्षा प्रशासक, सिस्टम / अनुप्रयोग, सुरक्षा कार्यकारी, वेब सुरक्षा प्रशासक, वेब सुरक्षा प्रबंधक इत्यादि उपलब्ध नौकरियों की तरह हैं।

एक एथिकल हैकर का वेतन —

न केवल  एथिकल हैकर के लिए उपलब्ध कैरियर के विकल्पों में वृद्धि हुई है, यहां तक कि सैलरी  के क्षेत्र में एथिकल हैकर्स ने एक ऊँची  छलांग लगाई  है।

इस क्षेत्र में एक फ्रेशर भी प्रति वर्ष न्यूनतम 2.5 लाख रुपये कमा सकता  है। शुरुआत में सुरक्षा प्रणाली के लिए एक सहायक या प्रशिक्षु के रूप में काम करना पड़ता है जब तक कि वह अपने आप में  एथिकल हैकर बनने के लिए पर्याप्त अनुभव नहीं पा लेता । अनुभव के साथ, प्रतिवर्ष 4.5 लाख रुपये तक की उम्मीद कर सकते हैं। हालांकि, पांच साल या उससे अधिक के कार्य अनुभव वाले लोग प्रति वर्ष 10 से 12 लाख तक प्राप्त कर सकते हैं।

एथिकल हैकिंग

एक एथिकल हैकर बनने के लिए पाठ्यक्रम आयोजित करने वाले संस्थान:-

भारत में कई संस्थान एथिकल हैकिंग और साइबर फोरेंसिक, सूचना सुरक्षा इत्यादि जैसे प्रमाणपत्रों और डिप्लोमा पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। EC Council द्वारा प्रस्तावित CEH (प्रमाणित एथिकल हैकर) और CHFI (कंप्यूटर हैकिंग फोरेंसिक जांचकर्ता) जैसे अंतरराष्ट्रीय प्रमाणपत्र प्राप्त करना; CCNA Security (सिस्को प्रमाणित नेटवर्क एसोसिएट सुरक्षा);  SCNS (सुरक्षा प्रमाणित नेटवर्क विशेषज्ञ) और SCNP (सुरक्षा प्रमाणित नेटवर्क पेशेवर); Intel Information System Security certification Consortium and from SANS institute आदि अमेरिकी संसथान के कोर्स भी अत्यधिक मूल्यवान है।

Don't Miss! random posts ..